कोरोना वायरस के वायरोलॉजी टेस्ट के लिए दिशा-निर्देश जारी, 31 मार्च तक बंद रहेंगे कोचिंग और मैरिज हॉल, राज्य कौशल प्रतियोगिता परीक्षा स्थगित

बालाघाट. कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम और सावधानी बतौर (वॉयरोलॉजी टेस्ट) जांच के लिए जिले के स्वास्थ्य महकमे ने दिशा-निर्देश जारी किया है. कलेक्टर दीपक आर्य ने नागरिकों से अपील की है कि वे कोरोना से डरें नहीं बल्कि सावधान और सतर्क रहें, साफ-सफाई का ध्यान रखें. सावधानी और जागरूकता ही कोरोना के खतरे से निपटने का एकमात्र उपाय है.

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ आर सी पनिका ने जारी एडवायजरी में कहा है कि ऐसा व्यक्ति जिसने कोरोना प्रभावित देशों चीन, हांगकांग, कोरिया, जापान, इटली, थाइलैण्ड, सिंगापुर, ईरान, मलेशिया, फ्रांस, स्पेन, जर्मनी, संयुक्त अरब अमीरात, कतर, ओमान और कुवैत की 14 दिवस के अंदर यात्रा की हो या उन देशों से ट्रांजिट किया हो एवं उसे सर्दी, खांसी, बुखार और सांस लेने में दिक्कत होने के लक्षण हों तो वॉयरोलॉजी टेस्ट कराना जरूरी है. इसके अलावा कोविड-19 कंफर्म केस (लैब पॉजीटिव) के संपर्क में आया हो एवं सर्दी, खांसी, बुखार और सांस लेने में दिक्कत के लक्षण हो.

नोवल कोरोना वायरस (कोविड-19) की भर्ती, क्यूरंटाइन व आइसोलेशन के लिए भी स्वास्थ्य विभाग ने दिशा-निर्देश जारी किए हैं. इसके तहत ऐसा व्यक्ति जिसने कोरोना प्रभावित देश की यात्रा की हो (14 दिवस के अंदर) और सर्दी, खांसी, बुखार व सांस लेने की समस्या से पीड़ित हो तो इस श्रेणी के मरीज को आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा. जबकि ऐसा व्यक्ति जिसने कोरोना प्रभावित देश की यात्रा 14 दिवस के अंदर की हो एवं कोई लक्षण नहीं प्रदर्शित हो वे एसिम्टोमेटिक्स की श्रेणी में आएंगे और 14 दिवस होम क्यूरेंटाइन का इलाज प्राप्त करेंगे. ऐसा व्यक्ति जो कोरोना प्रभावित देश की यात्रा की हो (14 दिवस के अंदर) एवं कोई लक्षण नहीं और 60 वर्ष के ऊपर का हो ब्लड प्रेशर, डायबिटिक या अस्थमा का मरीज हो उसे 14 दिवस क्यूरेंटाइन का उपचार देने के निर्देश हैं.

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ आर सी पनिका ने बताया कि जिला चिकित्सालय बालाघाट में कोराना के संभावित मरीजों को निगरानी में रखने के लिए 6 बेड का एक आईसोलेशन वार्ड बनाया गया है. यह वार्ड सभी आधुनिक मशीनों से सुसज्जित है. जिस किसी भी व्यक्ति को संदेह हो कि वह कोरोना वायरस से पीड़ित हो सकता है तो वह जिला चिकित्सालय के आईसोलेशन वार्ड में उपचार के लिए अनिवार्य रूप से आये.

कोचिंग संस्थान एवं मैरिज हाल को 31 मार्च तक बंद रखने के निर्देश

जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी दीपक आर्य ने सम्पूर्ण बालाघाट जिले में दंड प्रक्रिया संहिता की धारा-144 लागू कर दी है और आगामी 31 मार्च तक जिले के सभी स्कूल, कालेज, सिनेमा हाल, मैरिज लान, पुस्तकालय, जिम, पार्क, कोचिंग क्लास को बंद रखने के आदेश दिये है.

जिले के ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में संचालित में कोचिंग संस्थान, ट्यूशन क्लास, मैरिज हाल को आगामी 31 मार्च 2020 तक अनिवार्य रूप से बंद रखने कहा गया है. आगामी 31 मार्च तक जिले के समस्त स्कूल, कालेज, सिनेमा हाल, मैरिज हाल व मैरिज गार्डन, सार्वजनिक पुस्तकालय, वाटर पार्क, जिम, स्वीमिंग पूल्स, जिले के समस्त आंगनवाड़ी केन्द्र को बंद रखने के आदेश दिये गये है. इस आदेश का उल्लंघन करने पर कड़ी कार्यवाही की चेतावनी दी गई है.

जिले की जनता से भी अपील की गई है कि वह कोराना वायरस कोविड-19 के संक्रमण से बचने के लिए पूरी सावधानी व सर्तकता बरते और भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर न जाये. विवाह समारोह, अन्य कार्यक्रम एवं धार्मिक आयोजनों से भी आम जन को वायरस संक्रमण की सुरक्षा की दृष्टि से दूर रहने की सलाह दी गई है. यथासंभव प्रयास करें कि यात्रा से बचा जाये. कोरोना वायरस संक्रमण को विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा माहमारी घोषित कर दिया गया है और यह विश्व के 146 देशों में फैल चुका है. इससे बचने के लिए सावधानी एवं सर्तकता बरती जाये. किसी भी तरह का संदेह होने पर चिकित्सक के पास जांच के लिए अवश्य जाये.

राज्य कौशल प्रतियोगिता परीक्षा स्थगित

शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान बालाघाट के प्राचार्य मोहसीन हबीब खान ने बताया कि मध्यप्रदेश राज्य कौशल प्रतियोगिता परीक्षा -2020 को आगामी आदेश तक के लिए स्थगित कर दिया गया है. यह परीक्षा 21 मार्च 2020 को होने वाली थी. लेकिन कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण से आम जन को बचाने के लिए इस परीक्षा को स्थगित कर दिया गया है. इस परीक्षा में शामिल होने वाले आईटीआई के सभी परीक्षार्थियों को यह सूचना दी गई है.  

पीडीएस की राशन दुकानों को कोरोना वायरस से मुक्त रखने के दिशा-निर्देश जारी

राज्य शासन ने सार्वजनिक वितरण प्रणाली की राशन दुकानों पर उपभोक्ताओं को नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिये विस्तृत दिशा-निर्देश जारी किये हैं. राशन विक्रेता के लिये मॉस्क और सेनेटाइजर का उपयोग आवश्यक कर दिया गया है.

संचालक खाद्य-नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण अविनाश लवानिया द्वारा राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अन्तर्गत राशन दुकानों के विक्रेताओं से कहा गया है कि दुकान नियमित रूप से खोलें और पात्र परिवारों को सतत रूप से राशन का वितरण करें. दुकान पर अधिक उपभोक्ता एक साथ एकत्रित न हों तथा वे एक-दूसरे से आवश्यक दूरी पर रहें. राशन वितरण करते समय हितग्राहियों के मध्य न्यूनतम 3 मीटर की दूरी रखी जाए. यथासंभव यह कोशिश की जाए कि वृद्ध एवं बीमार उपभोक्ताओं को राशन प्राप्त करने दुकान पर न आना पड़े. यदि फिर भी ऐसे हितग्राही दुकान पर आते हैं, तो उनकी लाइन अलग से लगवाई जाए और उन्हें प्राथमिकता के आधार पर राशन वितरण किया जाए.

बायोमेट्रिक मशीन के स्केनर को सेनेटाइजर से साफ करने के निर्देश

राशन दुकानों के विक्रेताओं से कहा गया है कि बायोमेट्रिक सत्यापन के आधार पर प्रत्येक उपभोक्ता को राशन वितरण के बाद मशीन के स्केनर को सेनेटाईजर से साफ कराया जाए. इसके लिये दुकान पर पर्याप्त मात्रा में सेनेटाईजर रखा जाए. जिन उपभोक्ताओं को बायोमेट्रिक सत्यापन में कठिनाई होती है, उन्हें आगामी माह में भी राशन प्राप्त करने की सुविधा प्रदान करें. निर्देश जारी किये गये हैं कि पीडीएस की प्रत्येक दुकान पर विक्रेता और सहयोगी भी राशन वितरण करते समय मास्क का उपयोग अवश्य करें और अपने हाथों को भी बार-बार सेनेटाईजर से साफ करें.

कलेक्टर श्री दीपक आर्य ने जिले की सभी उचित मूल्य दुकानों के प्रबंधकों को निर्देशित किया है कि वे शासन के निर्देशों का पालन करते हुए कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिए सावधानी व सतर्कता बरतें. दुकान से खाद्य सामग्री का वितरण करते समय मास्क अवश्य पहनें और स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें.


Web Title : GUIDELINES FOR VIROLOGY TEST OF CORONA VIRUS ISSUED, COACHING AND MARINE HALLS TO REMAIN CLOSED TILL MARCH 31, STATE SKILLS COMPETITION EXAM POSTPONED