अभियंताओं की अवकाश के दिनो में बैठक रखने और गैर तकनीकि कार्य करवाने वाले अधिकारियों पर कार्यवाही की मांग, डिप्लोमा इंजीनियर्स एशोसिएशन ने सौंपा ज्ञापन

बालाघाट. डिप्लोमा इंजीनियर्स एशोसिएशन ने आज मुख्यालय में जिला प्रशासन और जिला पंचायत सीईओ को अवकाश के दिनो में बैठक रखने और गैर तकनीकि कार्य करवाने वाले अधिकारियो पर कार्यवाही की मांग का ज्ञापन सौंपा है.  

डिप्लोमा इंजीनियर्स एशोसिएशन का कहना है कि कार्यदिवस पर जिम्मेदारी और ईमानदारी से कार्य करने वाले अभियंताओं को अवकाश के दिनों में परिवार के साथ रहने का मौका मिलता है, ऐसे में अवकाश के दिनों में बैठक रखकर अधिकारी वर्ग अभियंताओं का मानसिक शोषण कर रहे है, जिससे वह मानसिक रूप से परेशान रहता है.  

डिप्लोमा इंजीनियर्स एशोसिएशन ने बलड़ी ब्लॉक में पदस्थ संविदा उपयंत्री 30 वर्षीय जामसिंह के अवकाश के दिनों में मीटिंग में जाते समय मौत का हवाला देते हुए कहा कि अवकाश के दिन प्रधानमंत्री आवास योजना की मीटिंग आहूत की गई थी. जिसमें शामिल होने संविदा उपयंत्री जामसिंह अपने घर जाने के बाद आनन-फानन में खंडवा शामिल होने आ रहा था. इस दौरान ही सड़क हादसे में उसकी मौत हो गई. एशोसिएशन का कहना है कि यदि अवकाश के दिवस पर मीटिंग नहीं होती तो संभवतः युवा संविदा उपयंत्री आज जीवित होता. ऐसी घटनाओं की पुनर्रावृत्ति न हो और अभियंता अवकाश का लाभ ले सकें. इसके लिए अवकाश के दिनों में मीटिंग आहूत न की जायें. साथ ही अभियंताओं से गैर तकनीकि कार्य भी न करवाया जायें. डिप्लोमा इंजीनियर्स एशोसिएशन ने सड़क हादसे में जान गंवाने वाले संविदा उपयंत्री जामसिंह के परिवार को को शासन की ओर से 20 लाख रुपये दिलवाने की मांग की. साथ ही जिला समिति द्वारा भी पीड़ित परिवार को आर्थिक सहायता देने की बात कही.

डिप्लोमा इंजीनियर्स एशोसिएशन पदाधिकारियों ने कहा कि बालाघाट में भी कई अधिकारी जानबूझकर रविवार को अवकाश के दिन बैठक आहूत कर मातहत कर्मचारियों का मानसिक चैन छिन रहे है. इसके अलावा ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग में पदस्थ संविदा उपयंत्रियो को तीन माह से वेतन का भुगतान नही किया गया है, जिससे उपयंत्री मानसिक रूप से परेशान है और उनके समक्ष भरण पोषण की समस्या खड़ी हो गई है.

मध्य प्रदेश डिप्लोमा इंजीनियर्स एशोसिएशन ने जिला प्रशासन से मांग की है कि  अवकाश के दिनों में शासकीय कार्य करने के लिए परेशान करने वाले अधिकारियों पर सख्त कार्यवाही की जायें ओर उपयंत्रियो पर दबाव बनाकर गैर तकनीकी कार्य करवाने वाले अधिकारियों पर भी सख्त कार्यवाही की जायें.

इस दौरान क्षेत्रीय अध्यक्ष सतपुड़ा एस. एल. शर्मा, जिलाअध्यक्ष विजय रावतकर, वरिष्ठ उपाध्यक्ष गजेंद्र कठाने, कोषाध्यक्ष अर्जुन सनोडिया, एम. के. लूथरा, सुनील हिरकने, तारेंद्र परते, अजहर मंसूरी, संजय रोडगे, सुमित प्रताप सिंह, अतीक खान, चंद्रशेखर निषाद, हेमेंद्र बिसेन, रुखसाना शेख, अनमोल सचदेव, चैनलाल बोपचे, सुरेंद्र राहंगडाले, मनोज मेश्राम,रोहित राजपूत, जावेद खान, टेकेश्वर सुलाखे सहित सैकड़ों अभियंता उपस्थित थे.


Web Title : IN ENGINEERSS LEISURE DAYS AND DEMANDING PROCEEDINGS ON NON TECHNICAL WORK OFFICERS, DIPLOMA ENGINEERS ESHOSIESHAN THE MEMORANDUM ASSIGNED