विधायक निर्मल, पूर्व विधायक जायसवाल एवं गौरव सिंह पारधी ने भरा नामांकन, मुझे पार्टी पर भरोसा है-प्रदीप, जनता के आदेश पर लड़ रहा हुॅ चुनाव-गौरव

बालाघाट. विधानसभा चुनाव नजदीक आते ही जिले भर में राजनैतिक सरगर्मियां तेज हो गई है. वारासिवनी में भी आज कांग्रेस नेता व पूर्व विधायक प्रदीप गुड्डा जायसवाल ने कांग्रेस पार्टी द्वारा वारासिवनी विधानसभा सीट पर अब तक प्रत्याशी घोषित न किये जाने के बावजूद निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन फार्म जमा कर दिया.  

गौरतलब है कि कांग्रेस की टिकिट पर वारासिवनी विधानसभा क्षेत्र से लगातार तीन बार विधायक रह चुके जायसवाल वारासिवनी सीट से कांग्रेस की टिकिट के सबसे प्रबल दावेदार है. लेकिन कुछ दिनों पूर्व ही मुख्यमंत्री के साले एवं भाजपा नेता संजय सिंह मसानी के कांग्रेस पार्टी में शामिल हो जाने से कांग्रेस आलाकमान द्वारा बालाघाट,कटंगी सहित वारासिवनी सीट पर प्रत्याशियों की घोषणा रोक दी गई है. जिससे यहां कांग्रेस प्रत्याशी की घोषणा को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है. वही कांग्रेस आलाकमान द्वारा प्रदीप जायसवाल की जगह संजय संह मसानी को वारासिवनी से प्रत्याशी बनाए जाने की अटकलों से स्थानीय कांग्रेस कार्यकर्ताओ में रोष व्याप्त है. कार्यकर्ताओ की नाराजगी उस समय खुलकर देखने मिली जब ब्लॉक कांग्रेस कार्यालय से निकली नामांकन रैली में उपस्थित हजारो कार्यकर्ताओ ने गुड्डा भैया इतिहास है बाकी सब बकवास है, संजय मसानी वापस जाओ, वापस जाओ के नारे लगाये. एक दिन बाद ही दिवाली का त्यौहार होने के बावजूद जायसवाल के समर्थन में नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रो से उमड़ी हजारो कांग्रेस कार्यकर्ताओ की भीड़ यह बताने के लिए काफी है कि अगर पार्टी आलाकमान द्वारा वारासिवनी से प्रदीप जायसवाल की जगह किसी और को प्रत्याशी बनाया जाता है तो पार्टी को हजारो कार्यकर्ताओ की नाराजगी के चलते चुनाव में भारी नुकसान उठाना पड़ सकता है. नामांकन भरने के बाद मीडिया से चर्चा करते हुए प्रदीप गुड्डा जायसवाल ने बताया कि वे दिल्ली जाकर पार्टी के वरीष्ठ नेताओ को कार्यकर्ताओ की भावनाओ से अवगत करा चुके है. उन्होंने पार्टी के वरीष्ठ नेताओ पर विश्वास जताते हुए कहा कि पार्टी आलाकमान वारासिवनी कांग्रेस संगठन एवं कार्यकर्ताओ के साथ अन्याय नही होने देगा. उन्होंने कांग्रेस नेताओ द्वारा पैराशूट से उतरने वाले नेताओं को टिकिट नही दिए जाने के बयान का हवाला देते हुए कहा कि उन्हें भरोसा है कि पार्टी जल्द ही इस विषय मे सही निर्णय लेगी. इसके बाद प्रदीप जायसवाल स्थानीय सिविल क्लब मैदान में आयोजित कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल होने के लिए रवाना हो गये.  

सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी भी इस तरह की राजनैतिक उठापठक से वंचित नही रही,पार्टी द्वारा टिकिट नही दिये जाने से नाराज भाजपा प्रधानमंत्री जनकल्याण प्रकोष्ठ के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य गौरव सिंह पारधी ने भी आज अपने हजारो समर्थकों के साथ निर्वाचन कार्यालय पहुंचकर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन भरकर पार्टी के खिलाफ खुलकर बगावत का बिगुल फूंक दिया. निर्वाचन कार्यालय पहुंचने से पूर्व स्थानीय गोलीबार चौक से गौरव समर्थकों ने भव्य रैली निकाली. इस दौरान गौरव सिंह पारधी के साथ बड़ी संख्या में युवा कार्यकर्ताओ के साथ-साथ कई भाजपा पदाधिकारी भी मौजूद थे. रैली में शामिल युवा कार्यकर्ताओ में जबरदस्त उत्साह देखने मिला. कार्यकर्ता गौरव सिंह पारधी के समर्थन में वारासिवनी की यही पुकार, गौरव भैया अबकी बार जैसे नारे लगाते रहे. गोलीबार चौक से निकली रैली जब अंबेडकर चौक पहुंची तो रैली को रोककर गौरव ने डॉ. बाबा साहेब अंबेडकर की प्रतिमा पर एवं नेहरू चौक पर जवाहरलाल नेहरू की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया. मीडिया से चर्चा के दौरान स्वयं को भाजपा का निष्ठावान कार्यकर्ता बताते हुए गौरव सिंह पारधी ने कहा कि उन्होंने पार्टी से टिकिट मांगी थी और पार्टी द्वारा टिकिट नही दिए जाने पर वे घर पर ही बैठ गये थे. लेकिन कार्यकर्ताओं एवं आम जनता ने उन्हें चुनाव मैदान में उतारा है. जनता के आदेश पर ही वे चुनाव लड़ रहे है. इसी बीच आज भाजपा प्रत्याशी विधायक डॉ. योगेंद्र निर्मल ने भी सांसद बोधसिंह भगत, भाजपा जिलाध्यक्ष रमेश रँगलानी, अभय सेठिया, पूर्व विधायक ओंकार सिंह बिसेन की मौजूदगी में नामांकन फार्म जमा किया. इस अवसर पर भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा रैली निकाली गई स्थानीय मिश्रा नगर से निकली रैली में बड़ी संख्या में नगर सहित वारासिवनी-खैरलांजी क्षेत्र के ग्रामीण कार्यकर्ता शामिल रहे. इस दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं में जबरदस्त उत्साह देखने मिला. रैली में शामिल कार्यकर्ता फिर भाजपा, फिर शिवराज के नारे लगाते रहे.


Web Title : MLA REFINER, FORMER MLA JAISWAL ANDAMP; GAURAV SINGH PARDHI, I TRUST THE PARTY – PRADEEP, THE ELECTION ON THE PUBLICS COMMAND PRIDE