मंत्री के कथित वायरल विडियो की होगी टेक्निकली जांच, पुलिस ने की सिफारिश, आयोग के आदेश के बाद विडियो मामले की जांच प्रारंभ

बालाघाट. 30 अक्टूबर को पूर्व सांसद कंकर मुंजारे द्वारा मंत्री गौरीशंकर बिसेन का एक विडियो जारी किया गया था. जिसमें मंत्री गौरीशंकर बिसेन द्वारा 30 लाख रूपये में 10 हजार साड़ी लाकर बांटने और फिर वोट कैसे नहीं देने की बात कही गई थी. इसके अलावा उक्त विडियो में नरेन्द्र मोदी से मंत्री बनने 100 करोड़ रूपये के ठेके की भी बात मंत्री श्री बिसेन ने कही है. जिसके बाद मंत्री गौरीशंकर बिसेन का यह विडियो तेजी से वायरल हो गया था. चुनाव के दौरान मंत्री गौरीशंकर बिसेन द्वारा चुनाव में मतदाताओ को प्रलोभित कर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के इस गंभीर मामले को लेकर वायरल विडियो के साथ कांग्रेस प्रवक्ता विशाल बिसेन द्वारा भारत निर्वाचन आयोग को शिकायत की गई थी. जिसके बाद निर्वाचन आयोग ने जिला निर्वाचन आयोग को इसकी जांच के आदेश दिये है. जिसकी जांच के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा पुलिस को इसकी जांच करने कहा गया है.  

जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा दिये गये मंत्री गौरीशंकर बिसेन के वायरल विडियो की जांच के आदेश मिलने के बाद बालाघाट पुलिस ने इसकी जांच कर अंतरिम रिपोर्ट आयोग को सौंप दी है वहीं विडियो की टेक्निकली जांच की सिफारिश की है. पुलिस अधीक्षक जयदेवन ए ने बताया कि आयोग द्वारा विडियो फुटेज और शिकायत की जांच के लिए पुलिस को आदेशित किया गया था. जिसमें विडियो और शिकायत की जांच कर अंतरिम रिपोर्ट तैयार कर वायरल विडियो की टेक्निकली जांच के लिए भोपाल भेजा गया है.  

इस मामले में कांग्रेस प्रवक्ता विशाल बिसेन ने कहा कि 30 अक्टूबर को सोशल मीडिया में वायरल हुई मंत्री गौरीशंकर बिसेन के वीडियो और उसमें मंत्री द्वारा कही गयी लोकतांत्रिक मूल्यों के हनन, आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन एवं प्रलोभन से चुनाव जीतने वाली बातों को लेकर भारत निर्वाचन आयोग को शिकायत प्रेषित की गई थी. जिसने आयोग द्वारा कार्यवाही करते हुए शिकायत को पंजीबद्ध कर लिया गया है. जिसका शिकायत क्रमांक मॉडल कोड ऑफ कंडक्ट-3621968563 है. साथ ही आयोग द्वारा जिला निर्वाचन अधिकारी बालाघाट एवं पुलिस अधीक्षक बालाघाट को मामले की जांच कर 24घंटे में रिपोर्ट जमा करने के आदेश जारी किये गये है. जिसमें मेरे द्वारा लिखित कथन जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन के समक्ष प्रस्तुत कर दिया गया है. मेरे द्वारा उक्त मामले में भारतीय निर्वाचन आयोग से मंत्री गौरीशंकर बिसेन को चुनाव लड़ने से आयोग्य घोषित करने की मांग की गई है.  

क्या कह रहे मंत्री बिसेन विडियो में

30 अक्टूबर को मंत्री गौरीशंकर बिसेन के जारी कथित विडियो में मंत्री गौरीशंकर बिसेन एक खुली जीप में बैठे हुए है. लगभग 3 मिनट 23 सेकंड के इस विडियो में मंत्री गौरीशंकर बिसेन ने 30 लाख रूपये की 10 हजार साड़ियां, केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी को बहन का संबोधन, बालाघाट में मेडिकल कॉलेज, कमलनाथ के खिलाफ चुनाव लड़ने, नरेन्द्र मोदी से ठेका और 100 करोड़ की बात करने सहित ऐसे कई बाते है जो वह कह रहे है.  


इनका कहना है

जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा पुलिस को मंत्री गौरीशंकर बिसेन के वायरल विडियो की जांच के आदेश दिये गये थे. जिसमें विडियो फुटेज और शिकायत की जांच की गई है. जिसमें अंतरिम रिपोर्ट हमारे द्वारा सौंप दी गई है. विडियो की फायनल जांच के लिए टेक्निकली जांच की जरूरत पड़ेगी. जिसमें टेक्निकली जांच के भोपाल भिजवा दिया गयाह है. जांच के बाद ही अंतिम निर्णय लिया जायेगा.  

ए. जयदेवन, पुलिस अधीक्षक


Web Title : MINISTERS ALLEGED VIRAL VIDEO WILL BE TEKNIKALI INQUIRY, RECOMMENDED BY POLICE, START VIDEO CASE INQUIRY AFTER COMMISSION ORDER