छंटनी और सरकार की गलत नीतियों के खिलाफ रेलकर्मियों का प्रदर्शन, कहा जान देंगे लेकिन मनमानी बर्दास्त नहीं

धनबाद: केंद्र सरकार के द्वारा रेलवे में छटनी और विभिन्न कार्य किए जाने के खिलाफ रेल यूनियन कर्मचारी लगातार केंद्र सरकार का विरोध करती दिख रही है. इसी क्रम में धनबाद स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या एक पर आज 18 विभिन्न कैटेगरी के रेल कर्मचारियों ने केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया और सरकार की नीतियों को गलत ठहराया.

यूनियन नेताओं ने कहा कि केंद्र सरकार की गलत नीतियां और सत्ताधारी यूनियनों के द्वारा लगातार केंद्र सरकार छात्र, मजदूर, व्यापारी, किसान और कर्मचारी विरोधी कार्य कर रही है जो किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. कर्मचारियों ने कहा कि सरकार ने और रेलवे का निजीकरण जैसे कार्य कर रही है जिसके कारण छात्र, मजदूर, किसान और गरीब तबके के लोगों को परेशानी में डाल रही क्योंकि रेलवे का निजीकरण होने से सभी चीजों का भाड़ा दोगुनी हो जाएगी और रेलवे आम आदमी की पहुंच से रेल बाहर हो जाएगा.

इस विरोध प्रदर्शन के दौरान रेलवे कर्मचारियों ने केंद्र सरकार से व्यापारी बनकर नहीं बल्कि अभिभावक बन कर कार्य करने का अनुरोध किया है. साथ ही उन्होंने कहा कि वह अपनी जान दे देंगे लेकिन सरकार का मनमाना रवैया रेलवे और अन्य संस्थानों में नहीं चलने देंगे. उन्होंने कहा कि सरकार अगर अभी भी अपना फैसला वापस नहीं लेती है तो आने वाले दिनों में और भी जोरदार आंदोलन किया जाएगा.

Web Title : RAILWAYMEN DEMONSTRATE AGAINST RETRENCHMENT AND WRONG POLICIES OF GOVERNMENT, SAYS THEY WILL DIE BUT NOT TOLERATE ARBITRARINESS

Post Tags: