बंद की सफलता को लेकर विपक्षी दलों ने विभिन्न संस्थाओं से माँगा समर्थन

धनबाद :  बंदी से पूर्व बुधवार को विपक्षी दलों ने विभिन्न संस्थाओं चेम्बर के सभी 58 संगठन के अलावे ऑटो यूनियन, बस एसोसियशन, ट्रांसपोर्ट एसोसियशन आदि सभी से बंद को सफल बनाने हेतु समर्थन माँगा.

कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष रवींद्र वर्मा ने कहा कि भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक झारखंण्ड की जनता के हीत में नही है. कॉर्पोरेट घरानों को फायदा पहुचाने के लिए भाजपा सरकार ने इस बिल में संशोधन किया है.

सरकार इस कदम को उठाकर आम जनता के अधिकारों को कुचलने का काम कर रही है. विपक्ष भाजपा सरकार के इस तानाशाह रवैये का जवाब देने के लिए बंद का आह्वाहन किया है ताकि जनता के हीत में सरकार विधेयक को वापस लेने के लिए बाध्य हो.

बंद की सफलता जनता के समर्थन से ही मुमकिन है. विदित हो की रघुवर सरकार भूमि अधिग्रहण कानून में संशोधन कर उसे विधान सभा से पारित कराकर राष्ट्रपति से मंजूरी ले चुकी है.

एक तरफ भाजपा सरकार इस कानून के बदौलत विकास में रफ़्तार आने की बात कह रही है तो वही विपक्ष इसे कॉर्पोरेट घरानों को लाभ पहुचाने की मंशा बता रही है.

इसके विरोध में विपक्ष पिछले एक सप्ताह से चरणबद्ध आंदोलन करते आ रही है. धरना, प्रदर्शन एवं प्रखंड स्तर पर बंद की सफलता को लेकर मंगलवार को मशाल जुलूस निकाला गया.

विपक्ष ने गुरुवार 5 जुलाई को झारखंण्ड बंद का आह्वाहन किया है.

Web Title : THE SUCCESS OF CLOSED OPPOSITION PARTIES SEEK SUPPORT FROM VARIOUS INSTITUTIONS

Post Tags: