पीएम ने बिहार को दी सात परियोजनाओं की सौगात, कहा अमृत योजना के तहत 12 लाख परिवारों को शुद्ध पानी देने लक्ष्य

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बिहार में सात परियोजनाओं की सौगात दी. इनमें से चार जल आपूर्ति, दो सीवरेज ट्रीटमेंट और एक रिवरफ्रंट डेवलपमेंट से संबंधित हैं. इस दौरान पीएम मोदी ने छठ पूजा और बाबा साहेब अंबेडकर कर जिक्र कर राजनीतिक समीकरण साधने की कवायद की है. इतना ही नहीं पीएम ने लालू यादव का नाम लिए बगैर निशाना साधते हुए कहा कि जब शासन पर स्वार्थ नीति हावी हो जाती है, वोट बैंक का तंत्र सिस्टम को दबाने लगता है, तो सबसे ज्यादा असर समाज के प्रताड़ित, वंचित है और शोषित लोगों पर पड़ता है.  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि शहरी क्षेत्र में बिहार के लाखों लोगों को शुद्ध पानी के कनेक्शन से जोड़ने का काम चल रहा है. अमृत योजना के तहत बिहार के 12 लाख परिवारों को शुद्ध पानी देने का लक्ष्य है. 6 लाख परिवारों को ये सुविधा मिल गई है और जल्द ही आपके परिवार को भी ये सुविधा मिल जाएगी. शहरीकरण आज के दौर की सच्चाई है. पूरी दुनिया में यह हो रहा है. कुछ दशक तक हमने मान लिया था कि शहरीकरण अपने आप में एक समस्या है, लेकिन मेरी सोच कहती है कि हमें हमेशा अवसर तलाशना चाहिए.  

पीएम मोदी ने कहा कि बाबा साहेब अंबेडकर ने तो उस दौर में ही शहरीकरण की सच्चाई को समझ लिया था. वे शहरीकरण के समर्थक थे. उन्होंने ऐसे शहर की परिकल्पना की थी जहां गरीब को भी अवसर मिले. यानी शहर ऐसे हों जहां खासकर युवाओं को आगे जाने के लिए असीम संभावनाएं मिल सकें.  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बिहार के लोगों ने इस दर्द को दशकों तक सहा है, जब पानी और सीवरेज की मूल जरूरतों को पूरा नहीं किया जाता है, तब सर्वाधिक परेशानी माताओं-बहनों को होती है, गरीबों को होती है. गंदगी से बीमारियां फैलतीं हैं और इलाज के खर्च से परिवार कर्ज तले दब जाता है. ऐसी दिक्कतों से कमाई का एक बड़ा हिस्सा इलाज में खर्च हो जाता है. पिछले 15 सालों से नीतीश कुमार समाज के कमजोर वर्ग का आत्मविश्वास बढ़ाने का भरपूर प्रयास कर रहे हैं.  

नमामि गंगे परियोजना का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि ´बिहार के लोगों का तो गंगा जी से बहुत ही गहरा नाता है. गंगा जल की स्वच्छता का सीधा प्रभाव करोड़ों लोगों पर पड़ता है. गंगा जी की स्वच्छता को ध्यान में रखते हुए ही बिहार में 6 हजार करोड़ रुपए से अधिक की 50 से ज्यादा परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं. सरकार का प्रयास है कि गंगा के किनारे बसे जितने भी शहर हैं, वहां गंदे नालों का पानी सीधे गंगा जी में गिरने से रोका जाए. इसके लिए अनेकों वॉटर ट्रीटमेंट प्लांटस् और  रिवरफ्रंट डेवलप किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि अब छठ का पर्व भी आर रहा है ऐसे में बार स्वच्छ पानी में स्नान करने के लिए मिले. हालांकि, पीएम मोदी इससे पहले मन की बात में छठ पर्व का जिक्र कर राजनीतिक समीकरण साधने की कवायद की थी.  


Web Title : PMS GIFT OF SEVEN PROJECTS TO BIHAR, SAYS IT AIMS TO PROVIDE PURE WATER TO 12 LAKH HOUSEHOLDS UNDER AMRUT SCHEME

Post Tags: