कोरोना से संक्रमित मरीजों को नया जीवन देगा रेलवे का यह वेंटिलेटर, दाम बहुत कम

भारतीय रेलवे ने देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच एक ऐसा बेहद सस्ता वेंटिलेटर तैयार किया है, जो हजारों लोगों की जान बचाने में उपयोगी हो सकता है. इस सस्ते वेंटिलेटर को ‘जीवन´ नाम दिया गया है और इसे कपूरथला रेल डिब्बा कारखाना ने विकसित किया है.

इस्तेमाल के लिए इस वजह से इंतजार

इस वेंटिलेटर का अभी इस्तेमाल नहीं किया जा सकता, क्योंकि आईसीएमआर से इसे मंजूरी मिलने की प्रतीक्षा की जा रही है. ब्रूकिंग्स की एक रिपोर्ट के अनुसार, देश में जीवनरक्षक वेंटिलेटर की भारी कमी है.

कितनी है कीमत

अभी देश में उपलब्ध वेंटिलेटर की अधिकतम संख्या 57 हजार है. हालांकि यदि संक्रमण फैलता रहा तो खराब स्थिति में देश में 15 मई तक 1. 10 लाख से 2. 20 लाख वेंटिलेटर तक की जरूरत पड़ सकती है.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, अभी उपलब्ध वेंटिलेटर की कीमत पांच लाख से 15 लाख रुपये है. रेलवे कोच फैक्ट्री (आरसीएफ) के महाप्रबंधक रविंदर गुप्ता ने बताया, ‘जीवन वेंटिलेटर की कीमत बिना कंप्रेसर के करीब दस हजार रुपये होगी. एक बार हमें आईसीएमआर की मंजूरी मिल जाए तो हमारे पास रोजाना 100 वेंटिलेटर बनाने के संसाधन मौजूद हैं. ´

गुप्ता ने कहा कि इसे आरसीएफ की टीम ने तैयार किया है. इसमें मरीज के सांस को चलाने के लिये एक वॉल्व लगाया गया है. जरूरत के हिसाब से इसके आकार में बदलाव किया जा सकता है. यह बिना आवाज किये चलता है.

वेंटिलेटर है जरूरी

गौरतलब है कि देश में कोरोना का प्रकोप बढ़ते जाने की वजह से वेंटिलेटर की बेहद कमी महसूस की जा रही है. कई निजी कंपनियां भी अपने स्तर से वेंटिलेटर के विकास में लगी हैं. देश में अबतक कोरोना के मरीजों की संख्या 4067 हो चुकी है. वहीं मरने वालों का आंकड़ा 109 तक पहुंच गया है.




Web Title : RAILWAYS TO GIVE NEW LIFE TO PATIENTS INFECTED WITH CORONA, PRICES VERY LOW

Post Tags: