हत्या के प्रयास के आरोपियों को पांच-पांच वर्ष का कारावास और अर्थंदंड

बालाघाट. आरक्षी केन्द्र किरनापुर में दर्ज अपराध में आरोपी युवक रजेगांव निवासी 26 वर्षीय अतुल पिता गणेश फेंडारकर और 26 वर्षीय विशाल उर्फ मुक्का पिता राजेन्द्र कुथे ने दोषी पाते हुए बालाघाट न्यायालय के सत्र न्यायाधीश दिनेशचंद्र थपलियाल की अदालत ने संबंधित धाराओ में पांच-पांच वर्ष के कारावास और 06 हजार रूपए के अर्थदंड से दंडित करने का आदेश दिया है. मामले में अभियोजन की ओर से लोक अभियोजक एमएम द्विवेदी ने पैरवी की थी.

लोक अभियोजक एमएम द्विवेदी ने बताया कि 23 मार्च 2023 को शाम 7. 30 बजे, जब देवदत्त उर्फ देवा, रजेगांव स्थित रोडवेज में बैठा था. शाम तकरीबन 7. 30 बजे युवक अतुल और विशाल उर्फ मुक्का हाथ में डंडे लेकर आए और रूपए देने की बात पर विवाद करते हुए गालियां दी और सिर पर डंडे से हमला किया. जिससे उसके सिर पर चोटें आई थी. जिसमें शिकायत के बाद किरनापुर पुलिस ने आरोपी अतुल फेंडारकर और विशाल उर्फ मुक्का कुथे के खिलाफ संबंधित धाराओ के तहत अपराध दर्ज कर विवेचना में लिया था. मामले की संपूर्ण विवेचना उपरांत अभियोग पत्र न्यायालय में पेश किया था. जिसमें माननीय न्यायालय में विचारण उपरांत अभियोजन के तर्काे और साक्ष्य के आधार पर आरोपियों को दोषी पाते हुए माननीय न्यायालय ने कारावास और अर्थदंड की सजा से दंडित करने का फैसला दिया है.


Web Title : ATTEMPT TO MURDER CASE SENTENCED TO FIVE YEARS IMPRISONMENT AND FINE