विधायक हिना ने रचा कीर्तिमान, पहली महिला विधानसभा उपाध्यक्ष बनी, जिले में खुशी का माहौल

बालाघाट. कांग्रेस के बड़े नेता पूर्व मंत्री पिता स्व. लिखिराम कावरे के पदचिन्हो पर चलकर बेटी हीना कावरे ने नया कीर्तिमान रचा है. वह लांजी क्षेत्र से दिवंगत एन. पी. श्रीवास्तव के बाद दूसरी ऐसा नेता है, जो विधानसभा उपाध्यक्ष के संवैधानिक पद तक पहुंची है. विधायक हीना कावरे की इस उपलब्धि से पूरे जिला और कांग्रेस कार्यकर्ताओं में खुशी का माहौल है. वहीं विधायक हीना कावरे के विधानसभा उपाध्यक्ष बनने के बाद प्रदेश की सरकार में दो महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है, जिससे जिले के विकास को इसका फायदा मिलेगा.  

गौरतलब हो कि वर्ष 2013 में पहली बार हीना कावरे ने भाजपा के पूर्व मंत्री स्व. दिलीप भटेरे के बेटे रमेश भटेरे को बड़े अंतराल से हराकर विधानसभा पहुंचने का अवसर मिला था. हालांकि उस दौरान कांग्रेस की सरकार न बनने के बावजूद पार्टी में उनका कद बढ़ा और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष राहुल गांधी की टीम सदस्य होने के नाते मोदी लहर में कांग्रेस ने उन्हें लोकसभा प्रत्याशी बनाया था. जिसमें भी विधायक हीना कावरे का प्रदर्शन जबरदस्त था. समय के साथ राजनीतिक उंचाईयों पर पहुंच रही विधायक हीना कावरे ने प्रदेश के हाल ही में हुए आम विधानसभा चुनाव में एक बार फिर विधायक हीना कावरे ने बड़े अंतर से जीत दर्ज की. इस बार प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद उन्हें विश्वास था कि सरकार में उन्हें मंत्री पद दिया जायेगा किन्तु कमलनाथ मंत्रीमंडल में विधायक हीना कावरे को स्थान नहीं मिला. जिससे विधायक हीना कावरे सहित समर्थकों में नाराजगी देखी गई थी लेकिन मंत्रीमंडल गठन के बाद एक बार फिर विधायक हीना कावरे की कार्यक्षमता को देखते हुए अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष राहुल गांधी की टीम में उन्हें राष्ट्रीय प्रवक्ता नियुक्त किया गया था. अभी विधायक हीना कावरे पार्टी में राष्ट्रीय प्रवक्ता बनाये जाने की बधाईयां स्वीकार ही कर रही थी कि एकाएक किस्मत एक बार मेहरबान हुई और कांग्रेस ने विधानसभा उपाध्यक्ष के संवैधानिक पद के लिए हिना को आगे लाया और गत दिवस उन्होंने कांग्रेस की ओर से उपाध्यक्ष पद के लिए अपना फार्म भरा था. यह तय था कि संख्याबल के दम पर विधायक हीना कावरे उपाध्यक्ष बन जायेगी. बावजूद इसके भाजपा ने उनके खिलाफ जगदीश देवड़ा को उपाध्यक्ष के लिए खड़ा किया था लेकिन यहां फिर भाजपा को मुंह की खानी पड़ी और विधायक हीना कावरे पहली महिला विधानसभा उपाध्यक्ष बन गई.  

विधायक हीना कावरे के विधानसभा उपाध्यक्ष बनने पर खास बात यह रही कि कांग्रेस का ही विधानसभा उपाध्यक्ष बनते ही वर्षो पुरानी विपक्ष के विधानसभा उपाध्यक्ष बनने की परंपरा भी टूट गई. वही प्रदेश की पहली महिला विधानसभा उपाध्यक्ष बनने का भी गौरव विधायक हीना कावरे ने हासिल किया. यही नहीं लांजी क्षेत्र से दिवंगत एन. पी. श्रीवास्तव के विधानसभा उपाध्यक्ष बनने के बाद विधायक हीना कावरे दूसरी नेत्री है, जो इस पद पर आसीन होगी.  

मिली जानकारी अनुसार विधायक हीना कावरे के विधानसभा उपाध्यक्ष बनने के बाद से उनके समर्थकों और चाहने वालो में खुशी का माहौल है. मिली जानकारी अनुसार आगामी 14 जनवरी को विधानसभा उपाध्यक्ष बनने के बाद विधानसभा उपाध्यक्ष हीना कावरे पहली बार बालाघाट आ सकती है.  


Web Title : MLA HENNA CREATED A RECORD, THE FIRST FEMALE ASSEMBLY VICE PRESIDENT, AN ATMOSPHERE OF HAPPINESS IN THE DISTRICT