कोर प्रतिबंधित वनक्षेत्र में वन्यप्राणियों के शिकार के लिए विद्युत करेंट लगाने वाला आरोपी गया जेल

बालाघाट. कोर प्रतिबंधित वनक्षेत्र में वन्यप्राणियों के शिकार के लिए विद्युत करेंट लगाने वाले आरोपी को माननीय न्यायालय ने जेल भिजवा दिया है. बैहर न्यायालय के माननीय न्यायिक दण्डाधिकारी प्रथम श्रेणी श्रीमान मधुसुदन जंघेल की अदालत ने वन परिक्षेत्र सुपखार के वन अपराध में मंडला जिले के सरईटोला इंद्री निवासी 55 वर्षीय आरोपी मंगल सिंह पिता भारत सिंह धुर्वे को धारा 2, 16, 35, 36, 27, 39, 51 वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम में गिरफ्तार किये जाने के बाद आरोपी द्वारा पेश किये गये जमानत आवेदन को निरस्त कर जेल भेजने का आदेश दिया है. अभियोजन की ओर से सहायक जिला अभियोजन अधिकारी पंजाब सिंह ने पैरवी की थी.  

घटनाक्रम के अनुसार 29 अक्टूबर को अभियुक्त मंगल सिंह ने अपने साथी बिसन सिंह के साथ मिलकर वन पऱिक्षेत्र सूखपार कान्हा टाईगर रिजर्व मण्डला प्रतिबंधित क्षेत्र के अंदर कक्ष क्रं. 250 में बांस की खूटियों, कांच की शीशियों एवं जीआईतार की सहायता से 11000 वोल्टेज की विद्युत लाइन से वन्यप्राणी के शिकार की मंशा से विद्युत करेंट लगाने के मामले में वन अधिकारियों ने घेराबंदी करके अभियुक्त मंगल सिंह को पकड़ा तथा आरोपी बिसन फरार हो गया है. जिसे पकड़ने के बाद आरोपी मंगल सिंह भी फरार हो गया था. जिसे गत 24 नवंबर को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया गया था. जिसमें अभियुक्त के अधिवक्ता द्वारा अभियुक्त की ओर से जमानत आवेदन पत्र पेश किया गया. जिसको लेकर अभियोजन की ओर से आपत्ति दर्ज की गई. जिसके ाद अभियोजन के तर्कों से सहमत होकर माननीय न्यायालय ने जमानत आवेदन पत्र निरस्त कर अभियुक्त को जेल भेजने का आदेश दिया.


Web Title : MAN ACCUSED OF INSTALLING ELECTRIC CURRENT TO HUNT WILDLIFE IN CORE RESTRICTED FOREST AREA GOES TO JAIL