पुलिस मुखबिरी के शक में नक्सलियों ने की हत्या, जांच में जुटी पुलिस

बालाघाट. फिर एक बार जिले में नक्सली आतंक का चेहरा सामने आया है, नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी के शक में मलाजखंड थाना अंतर्गत पाथरी चौकी के जगला निवासी युवक लाडो धुर्वे की गोली मारकर हत्या कर दी है. घटना की पुष्टि करते हुए पुलिस अधीक्षक समीर सौरभ ने कहा कि मामले में जांच की जा रही है. ग्रामीणों की मदद से पुलिस ने मृतक युवक का शव बरामद कर लिया है. बताया जाता है कि बीती रात्रि लगभग 9. 30 बजे, हथियारबंद नक्सली करीब 10 से 12 की संख्या में आये थे. जिन्होंने अपने साथ लाडो धुर्वे को ले गये है और बाद में उसकी गोली मारकर हत्या कर दी.  

पुलिस इसे नक्सलियांे की कायराना हरकत बता रही है. सूत्रों की मानें तो क्षेत्र में नक्सलियों के मूवमेंट की खबर, पुलिस तक पहुंची थी. यदि पुलिस इसे गंभीरता से लेती तो निश्चित ही लाडो की जान, कथित मुखबिरी के शक में नक्सलियो के हाथो उसकी जान नहीं जाती है. हालांकि पुलिस ने कहा कि जब लाडो को ले जाते समय उसके भाई ने ग्रामीणो को आवाज लगाई तो नक्सली, ग्रामीणो के एकजुट होने के बाद वह लाडो लेकर भागे और बाद में भाई को गोली की आवाज सुनाई दी. जिसके बाद जब जब परिजन पहुंच तो देखा कि खून से लथपथ लाडो का शव पड़ा था.  

घटना की जिम्मेदारी भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माओवादी) मलाजखंड एरिया कमेटी ने ली है. जिसके पर्चे भी शव के पास मिले है. जिसमें नक्सलियों ने पुलिस मुखबिरी करने पर मौत की सजा दिये जाने की बात कही है. पर्चे में नक्सलियों ने लिखा है कि जनयुद्ध को नुकसान न पहुंचाये, उत्पीड़ित किसान, मेहनतकश बेटी, बेटा छापामार सैनिक है. वहीं नक्सलियों ने पाथरी चौकी प्रभारी को चेतावनी देते हुए कहा कि वह पैसा के लालच और धमकाकर मुखबिरी कार्य को बंद करें.

हालांकि जिले का यह कोई ऐसा पहला मामला नहीं है, जब नक्सलियों ने पुलिस मुखबिर को निशाना नहीं बनाया है, इससे पूर्व भी कई ऐसी घटनायें सामने आ चुकी है, जब नक्सलियों ने पुलिस के कथित नेटवर्क, मुखबिरांे को अपना निशाना बनाया है. जिसको लेकर पुलिस हमेशा बैकफुट पर रही है और पुलिस हमेशा यह कहती रही है कि नक्सली बेगुनाह नागरिकों को मारकर, अपनी दहशत फैलाना चाहते है.  

गौरतलब हो कि बालाघाट जिला दशको से नक्सली समस्या से जूझ रहा है, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ सीमा से लगे बालाघाट जिले के परसवाड़ा, बैहर और लांजी क्षेत्र, नक्सली आतंक से हमेशा से जूझ रहा है, अक्सर यहां के जंगलो में नक्सली अपनी पैठ बनाने अपनी उपस्थिति का अहसास कराते रहते है. फिलहाल घटना की जानकारी के बाद पुलिस अलर्ट हो गई है और मामले की जांच के साथ ही क्षेत्र में सर्चिंग अभियान को और तेज कर दिया है.  


Web Title : NAXALS KILL ON SUSPICION OF POLICE INFORMERS, POLICE ARE INVESTIGATING