मिनी मैराथन में मानवता के लिए धावकों ने लगाई दौड़, 5 ग्रुप में विजेता, उपविजेता को 50 हजार रूपये की राशि पुरस्कार में वितरित

बालाघाट. एक दौड़ मानवता की थीम पर रोटरी क्लब ऑफ वैनगंगा के महिला संगठन ‘दिवास’ द्वारा आज 16 फरवरी को मिनी मैराथन दौड़ का आयोजन किया गया. जिसमंे शामिल धावकों नेे हार्ट ऑफ बालाघाट सिटी के 7 किमी की मैराथन दौड़ लगाई. मानवता के लिए दौड़े धावको में हर आयु वर्ग के महिला, पुरूष शामिल थे.  

रेलवे स्टेशन से जहां युवा नेत्री श्रीमती मौसम हरिनखेड़े ने हरी झंडी दिखाकर मैराथन को प्रारंभ किया. वहीं समापन पर महिला पुलिस अधिकारी उपनिरीक्षक प्रिती सिंगोतिया ने विजेता और उपविजेता धावकों को पुरस्कृत किया. इस दौरान बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे. प्रातः लगभग 7 बजे प्रारंभ हुई मैराथन दौड़ से पूर्व फिल्मी गीतों पर धावकों को ट्रेनर द्वारा एक्साईज कराई गई. जिसके बाद राष्ट्रगान किया गया. तदुपरांत अतिथि की हरी झंडी से ग्रुप वाईज मिनी मैराथन प्रारंभ की गई.  

सामाजिक सेवा में एक साल के भीतर ही अग्रणी भूमिका निभा रही रोटरी क्लब ऑफ वैनगंगा के महिला संगठन दिवास द्वारा जिले के आदिवासी ग्राम सर्रा के वेलफेयर को लेकर स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से मिनी मैराथन दौड़ का आयोजन किया गया था. जिससे मिलने वाली  राशि का सारा उपयोग आदिवासी ग्राम सिर्रा और ग्रामीणों के विकास के लिए खर्च किया जायेगा. प्रतियोगिता 5 ग्रुप में आयुवार आयोजित की गई थी. जिसमें गु्रप ए में 15 साल, ग्रुप बी में 16 से 30 साल, ग्रुप सी में 31 से 45 साल, ग्रुप डी में 46 से 60 साल और ग्रुप ई में 60 प्लस के प्रतिभागियों को शामिल थे. जिन्होंने रेलवे स्टेशन से प्रारंभ हुई 7 किमी के मैराथन मार्ग हनुमान चौक, आंबेडकर चौक, जयस्तंभ चौक, पुलिस लाईन चौक, कलेक्टर कार्यालय और मुलना स्टेडियम के सामने से होते हुए मोती तालाब रोड, गौरव पथ से राधाकृष्णन स्कूल से गुरूद्वारा होते हुए गोंदिया रोड से हनुमान चौक से रेलवे स्टेशन तक की दूरी पूरी की.

मिनी मैराथन कार्यक्रम के शुभारंभ में उपस्थित अतिथि युवा नेत्री श्रीमती मौसम हरिनखेड़े ने कहा कि रोटरी क्लब ऑफ वैनगंगा का महिला संगठन दिवास नये-नये आयोजनों के माध्यम से लोगों को जोड़ने और सामाजिक क्षेत्र में सेवा का कार्य कर रहा है. सभी आयु वर्ग के प्रतिभागियों को शामिल कर स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से आयोजित मिनी मैराथन का आयोजन एक सराहनीय पहल है. स्वास्थ्य समाज के निर्माण में महिला संगठन सहभागिता कर रहा है, यह प्रेरणादायक है.

महिला संगठन दिवास अध्यक्ष रोटे. श्रीमती दिव्या वैध ने कहा कि प्रशासन के सहयोग से आयोजित इस मिनी मैराथन में सभी आयु वर्ग के लगभग सभी 200 प्रतिभागियो ने हिस्सा लिया था. कुल सात किमी की मिनी मैराथन में विजेता और उपविजेता प्रतिभागियों को क्रमशः 3 हजार और 2 हजार रूपये की राशि वितरित की गई है. ऐसे सभी ग्रुप में महिला एवं पुरूष वर्ग में कुल 50 हजार रूपये के ईनाम प्रदान किये गये है.

ये रहे विजेता

पांच आयुवर्ग में ग्रुपवार आयोजित प्रतियोगिता में निर्णायक क्रीड़ा शिक्षक नरेन्द्र परिहार, कराते ब्लैक बेल्ट एवं योगा शिक्षिका लवलीना सेट्ठी के निर्णय के आधार पर प्रथम एवं द्वितीय स्थान अर्जित करने वाले आदित्य भुरसे, पायल लिल्हारे, रूद्राक्ष सोनी, रिया बावरे, आस्था निम्बरते, अंकित मंडलवार, दिपक सोनेवाने, मोरेश्वर उईके, उमा उइके, प्रिती लिल्हारे, श्रृष्टी उइके, डुलेश हरदे, बसंत चौरे, गरिमा दुबे, लॉरेंस इक्का, संजीव मिश्रा, डॉ. कृतिका शास्त्री एवं दिनेश बढ़ई विजेता रहे. जिन्हें रोटरी क्लब ऑफ वैनगंगा के महिला संगठन दिवास द्वारा विजेता को 3 हजार रूपये एवं उपविजेता को 2 हजार रूपये की राशि प्रदान की गई.  

इनका रहा सराहनीय सहयोग

एक दौड़ मानवता के लिए थीम पर आयोजित आदिवासी ग्राम सर्रा के वेलफेयर के लिए आयोजित 7 किमी की मिनी मैराथन दौड़ आयोजित कराने में रोटरी क्लब ऑफ वैनगंगा के रोटेरियन साथियों के अलावा, रोटरी क्लब ऑफ वैनगंगा के महिला संगठन दिवास की अध्यक्ष रोटे. श्रीमती दिव्या वैध, सचिव श्रीमती पूनम सचदेव, कोषाध्यक्ष श्रीमती स्नेहा वैध, प्रवक्ता श्रीमती हेमा वाधवानी, कमेटी मेंबर श्रीमती रितु माहेश्वरी, श्रीमती रश्मि बाघरेचा, श्रीमती हीरल त्रिवेदी, श्रीमती मानु आहुजा, श्रीमती सिल्की लोढ़ा, श्रीमती विधा गौतम, मेघा चोपड़ा, श्रुति तिवारी, स्नेहा वैध, मानु सचदेव, ज्योति अग्रवाल, हैप्पी छाबड़ा, भारती शरणागत, रंजीता अग्रवाल, स्तुति बोथरा, गुलशन माहेश्वरी, डॉ. मीरा अरोरा, डॉ. अर्चना गुप्ता, गीता सचदेव, ममता राय, रजनी चौधरी एवं डॉ. कल्याणी का सराहनीय योगदान रहा.


Web Title : RUNNERS RACE FOR HUMANITY IN MINI MARATHON, WINNERS IN 5 GROUPS, A SUM OF RS 50,000 WAS DISTRIBUTED TO THE RUNNERS UP IN PRIZES