राष्ट्रीयकृत बैंक मित्र संघ के जिलाध्यक्ष चुनाव में रूपक भालाधरे निर्वाचित, बैंक मित्रो की समस्याओ को हल करने की होगी प्राथमिकता-भालाधरे

बालाघाट. 07 जुलाई रविवार को जिले मंे राष्ट्रीयकृत स्टेट बैंक, पंजाब बैंक, यूनियन बैंक, सेंट्रल बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, ग्रामीण बैंक की गांव-गांव में चलाई जाने वाली कियोस्क में बैंक मित्र काम करते है. जिले में ऐसे 236 बैंक मित्र है. जिनके गठित राष्ट्रीयकृत बैंक मित्र संघ के जिलाध्क्ष का निर्वाचन 07 जुलाई को किया गया.  प्रातः 10 बजे निर्वाचन की प्रक्रिया निर्वाचन अधिकारी सरफराज हुसैन और सहायक निर्वाचन अधिकारी शिव भुते, विजय माहुले और अन्य की मौजूदगी में पूरी की गई. जिलाध्यक्ष पद के लिए तीन उम्मीदवार रेखचंद बिसेन, रूपक भालाधरे और रामेश्वर कुतरिया मैदान में थे. जिनके निर्वाचन के लिए पात्र 236 बैंक मित्रो में 166 बैंक मित्रों ने जिलाध्यक्ष पद के लिए अपने मताधिकार का प्रयोग किया. सायंकाल 05 बजे मतगणना की गई. जिसमें 86 मत लेकर रूपक माहुले जिलाध्यक्ष पद पर निर्वाचित घोषित किए गए. जबकि प्रतिद्वंदी रेखचंद बिसेन को 51 और रामेश्वर कुतरिया को 29 मत मिले.  

जिसके बाद सभी बैंक मित्रो ने निर्वाचित रूपक भालाधरे को पुष्पहार पहनाकर जीत की बधाई दी. राष्ट्रीयकृत बैंक मित्र संघ के नवनियुक्त अध्यक्ष रूपक भालाधरे ने बताया कि जिले में बैंक मित्रों को प्रथम बार 2014 में प्रधानमंत्री बने नरेन्द्र मोदी ने 05 हजार रूपए प्रतिमाह और कमीशन देने की बात कही थी, लेकिन मानदेय, प्रधानमंत्री की घोषणा के बाद भी नहीं मिला. वहीं कमीशन भी कम कर दिया गया है. जहां पहले प्रति 10 हजार रूपए पर बैंक मित्रो को 42 मिलते थे. वहीं इसके बाद धीरे-धीरे कमीशन कम किया जाने लगा. 42 रूपए कमीशन के बाद 32 रूपए और अब 22 रूपए कर दिया गया है. जबकि इस महंगाई में यह कमीशन नाकाफी है. वहीं बैंक मित्रो को बैंक द्वारा अटल पंेशन योजना, जीवन ज्योति सुरक्षा बीमा योजना, जीवन सुरक्षा बीमा योजना, पीपीएफ और सुकन्या योजना का टारगेट दिया जाता है और टारगेट पूरा ना करे पर आईडी बंद कर दी जाती है. जिससे बैंक मित्र परेशान है, जिनकी परेशानियों का निराकरण ही उनकी प्राथमिकता होगी.


Web Title : RUPAK BHALADHAR ELECTED AS DISTRICT PRESIDENT OF NATIONALISED BANK MITRA SANGH, PRIORITY WILL BE TO SOLVE PROBLEMS OF BANK MITRAS