भूली में जलाया गया बुराई का प्रतीक 40 फ़ीट का रावण

भूली. बुराई पर अच्छाई तथा असत्य पर सत्य की विजय का प्रतीक दशहरा  शनिवार को भूली में धर्मिक हर्षोल्लास के साथ मनाया गया.

भूली के बी ब्लॉक में बुराई के प्रतीक के रूप में 40 फुट के रावण का पुतला जलाया गया गया.

भूली कला निकेतन के कलाकारों ने रावण दहन करने से पूर्व रामलीला की प्रस्तुति की, तत्पश्चात राम बने कलाकार ने धनुष पर तीर साधकर रावण के पुतले पर वार किया और पुतला धु धु कर जलने लगा.

पुतला जलते ही पूरा मैदान जय श्री राम के नारों से गुंजयमान होने लगा, चारो तरफ आतिशबाजी के धमाके गूंजने लगे.

आतिशबाजी का अद्भुत नजारा देखने के लिए मैदान में हजारों की संख्या में लोग उपस्थित थे.

बी ब्लॉक पूजा समिति अध्यक्ष शशि भूषण सिंह और   मीडिया प्रभारी प्रदीप प्रसाद ने भूली वासियो को दशहरा की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि रावण को बुराई का प्रतीक मानकर  हर साल जलाया जाता है.

लेकिन इस युग के रावण पर का अंत तभी होगा जब हम अपने अंदर के रावण यानी कि अपने अंदर की बुराई को पूरी तरह नाश करने में सफल होंगे.

इस मौके पर बी ब्लॉक दुर्गा पूजा कमिटी के सभी पदाधिकारी मौजूद रहे.

Web Title : BHULI OF EVIL BURNED IN A SYMBOL OF 40 FEET OF RAVAN

Post Tags:

Bhuli rawan