शर्मनाक तस्वीर: स्वच्छता की शपथ कागजों पर, धरातल पर उड़ती है अभियानो की धज्जियां

रिपोर्ट- बंटी झा

स्वच्छ भारत अभियान की यह कैसी तस्वीर स्वच्छता की कही ली जाती है शपथ, तो कही उड़ती है धज्जियां... . .

कुमारधुबी :- जहाँ पूरे देश मे स्वच्छता अभियान को लेकर  प्रधानमंत्री के द्वारा जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है स्वच्छता को लेकर सरकारें नए-नए योजनाएं धरातल पर ला रही है वहीं राज्य सरकार भी स्वच्छता को लेकर करोड़ो रूपये खर्च कर रहे है लेकिन एगारकुण्ड प्रखंड अंतर्गत शिवलीबाड़ी दक्षिण पंचायत व चिरकुंडा नगर परिषद के वार्ड सं 14 के मेहरबानी से दो क्षेत्रो के बीच में फसा ये कचड़े का अंबार जो स्वच्छ भारत की एक शर्मनाक तस्वीर को दर्शा रही है, और स्वच्छता अभियान के दावों का पोल खोल रही है साफ़ सफाई को लेकर नगर परिषद हो या ग्रामीण पंचायत सभी क्षेत्रों में स्वच्छता के नाम पर लूट खसोट का काम चल रहा है. और योजनाएं धरातल पर शून्य है.

स्वच्छ भारत अभियान के तहर केंद्र सरकार साफ़ सफाई योजनायों के लिए करोड़ो रूपये खर्च कर रहे है लेकिन योजनाएं मात्र एक दिखावटी साबित हो रही है  कुमारधुबी बाजार के मुख्य द्वारा पे जमा कचड़े का अंबार स्वच्छता अभियान का मुंह चिढ़ा रही है मानो योजनाओं की राशि अधिकारी या जनप्रतिनिधियो के खाते में जमा हो रही है. यह शर्मनाक तस्वीर से स्वच्छता अभियान के नारे लगाने वाले एवं स्वच्छता की दावा करने वालों की पोल खोल रही है आपको बता दें की इस गंदगी के महज कुछ ही दूर में कुमारधुबी  के चर्चित डॉक्टर मनोरंजन सिन्हा का किल्लीक भी है जहां दूर-दूर से प्रतिदिन दर्जनों मरीज आते हैं लेकिन इस गंदगी के बदबू से मरीज स्वस्थ तो नहीं होंगे लेकिन और कहीं बीमारियों के शिकार हो सकते हैं साथ प्रतिदिन इस रास्ते से कुमारधुबी बाजार की ओर गुजरने वाले लोगों का इसकी गंदगी बदबू से जूझना पड़ता है जमा गंदगी की बीमारियों को दावत दे रही है. आए दिन इस रास्ते से अधिकारी से लेकर जनप्रतिनिधि, प्रशासन सभी गुजरते हैं सभी की निगाहें कचड़े अम्बर पर पड़ती है लेकिन साफ करने की हुजुमत अब तक किसी ने नहीं दिखाई. झाड़ू लेकर स्वच्छता अभियान के नारे लगाने वालों के लिए यह एक दर्पण दिखाने का काम कर रही है.

वहीं लोगों ने कहा कि स्वच्छता अभियान तो पूरे देश मे चलाया जा रहा है लेकिन ऐसी स्थिति रही तो अभियान बस लोगों के जुबा पर ही रह जाएगी. धरातल पर तो शून्य है.


वही इस मामले पर चिरकुंडा नगर परिषद कार्यालय पदाधिकारी एम एन मंसूरी दूरभाष पर कहा कि मामले की जानकारी सिटीलाइव इंडिया के खबरों से प्राप्त हुई है लेकिन परिषद के साफ सफाई का देख रेख पॉयनियर कंपनी के द्वारा सफाई का कार्य अभी कुछ दिनों से बंद था जिसको लेकर सफाई नही हुई. वही अधिकारी ने यह भी कहा कि जानकारी के अनुसार उक्त क्षेत्र व स्थान नगर परिषद के दायरे में नही बल्कि ग्रामीण क्षेत्रों में आते है. लेकिन मामले की जांच कर दो दिनों के अंदर सफाई कर दी जाएगी.


वही एगारकुण्ड प्रखंड विकास पदाधिकारी अनंत कुमार दुरभाष पर कहा कि ख़बर के द्वारा मामले को संज्ञान में लिया गया है, जिसको लेकर कृषि बाजार से सम्बंधित लोगो को जानकारी दी गई है, अगर इसके वावजूद भी सफाई नही हुई है तो इसकी शिकायत धनबाद उपयुक्त से की जाएगी. वही श्री कुमार ने कहा कि पंचायत, कृषिबाज़ार, नगर परिषद के आपसी सहमति से ही इस समस्या से  छुटकारा पूर्णरूप से  मिलेगा. आसपास के लोगो को भी जागरूक होना पड़ेगा. सफाई को लेकर क्षेत्र देखने की आवस्यकता नही है अभियान पूरे देश मे चल रही है, इसके तहत सफाई की जा सकती है. अगर क्षेत्र चिरकुंडा नगर परिषद के अंतर्गत में हैं तो इसकी जानकारी परिषद के कार्यालय पदाधिकारी को दी जाएगी. अन्यथा सफाई पंचायत के द्वारा की जाएगी.

Web Title : EMBARRASSING PHOTO: SANITATION VOWS ON PAPERS, ON THE GROUND FLIES THE BLAZES

Post Tags: