रंजय सिंह हत्याकांड : पुलिस की पूछताछ में हर्ष ने उगले कई राज

धनबाद : धनबाद के डिप्टी मेयर एकलव्य सिंह के मौसेरे भाई हर्ष सिंह ने पुलिस के समक्ष झरिया के भाजपा विधायक संजीव सिंह के करीबी रंजय सिंह की हत्या का राज खोल दिया है. उसने पुलिस को दिए बयान में कहा है कि विधायक की नजदीकी के कारण रंजय मनबढू हो गया था. उसने मेरे (हर्ष) ऊपर पिस्टल तान दी थी. वह मेरे मौसेरे भाई दिवंगत पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह के खिलाफ भी सार्वजनिक तौर पर बयानबाजी करता था. इसलिए उसकी हत्या हुई.  

29 जनवरी 2017 को सरायढेला स्थित बिग बाजार के सामने विधायक संजीव के करीबी रंजय की गोलीमारकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में गिरफ्तार नंद कुमार सिंह उर्फ मामा ने पुलिस को बताया था कि हर्ष सिंह के इशारे पर रंजय की हत्या हुई. पुलिस की दबिश बढ़ने के बाद हर्ष ने 30 नवंबर को कोर्ट में आत्मसमर्पण कर दिया था.  

उसे दो दिन के रिमांड पर लेकर सरायढेला थाने की पुलिस पूछताछ कर रही है. सोमवार को रात हर्ष को नक्सल प्रभावित राजगंज थाने में ले जाकर पूछताछ की गई. सरायढेला थाना प्रभारी निरंजन तिवारी समेत आधा दर्जन से अधिक पुलिस अधिकारियों ने हर्ष सिंह से तकरीबन सात घंटे लगातार पूछताछ की. हर्ष सवालों को आगे टूट गया. उसने  

यहां तक कह दिया कि विधायक संजीव सिंह से नजदीकी के कारण ही रंजय की हत्या हुई. वह इतना मनबढ़ू हो गया था कि उस पर पिस्टल तान दी थी. वह रघुकुल के खिलाफ भी सार्वजनिक तौर पर बोलने लगा था. हालांकि उसने अभी अपना गुनाह कबूल नहीं किया मगर हत्या की पूरी पटकथा पुलिस को बताई.  

उस पर सवाल दर सवाल दागे जा रहे थे. सवाल ऐसे थे कि ठंड में भी पसीने छूट रहे थे. पैर में दर्द होने का बहाना बनाकर पुलिस के सवालों से बचने का प्रयास कर रहा था. पुलिस ने इतना सत्यापन कर लिया है कि हत्याकांड में उसकी संलिप्तता का वह दावा कर सके.  

Web Title : HARSH SINGH TOLD SEVERAL SECRETS DURING POLICE INQUIRE