जल शक्ति अभियान : भूमि के हर खंड को तर-बतर करना अभियान का लक्ष्य

धनबाद : जल शक्ति अभियान तब सफल माना जाएगा जब 2020 में धनबाद का जलस्तर बढ़ेगा. इस अभियान के तहत कई एकड़ भूमि में बरसात के मौसम में बहते जल को रोकना है. प्रशासन ने प्रखंड विकास पदाधिकारियों को जो लक्ष्य दिया है सभी उसे पूरा करें. उक्त बातें आज समाहरणालय के सभागार में जल शक्ति अभियान की केंद्रीय टीम के नोडल पदाधिकारी आनंद शेरखानी ने कही.

उन्होंने कहा कि धनबाद दौरों में उन्होंने कई स्थान का भ्रमण किया. यहां अभियान काफी जोर-शोर से चल रहा है. काफी बड़े पैमाने पर काम किया जा रहा है. भारत सरकार सारी गतिविधियों को देख रही है. इसका परिणाम 2 - 3 माह के बाद सामने आएगा और पता चलेगा किस जिला ने कितना काम किया है.

शेरखानी ने कहा कि हर प्रखंड में अधिक से अधिक ट्रेंच कटिंग बाउंड बने. हर चापाकल और कुआं में पानी रहे. जिससे किसान सालभर खेती कर सके. भूमि के हर खंड को तर-बतर करना अभियान का लक्ष्य है. प्रखंड नॉडल पदाधिकारी कमलेश त्रिपाठी ने कहा कि सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी अपने प्रखंड में डोभा निर्माण, सोक पिट, जल संचयन, जल संरक्षण तथा पौधारोपण पर विशेष ध्यान दे. प्रखंड में स्थित कुंआ को रिचार्ज करे.

बैठक में जल शक्ति अभियान की केंद्रीय टीम के नोडल पदाधिकारी आनंद शेरखानी, प्रखंड नॉडल पदाधिकारी कमलेश त्रिपाठी, तकनीकी पदाधिकारी विनय विद्यापति, उप विकास आयुक्त शशि रंजन, अपर समाहर्ता  श्याम नारायण राम, अपर समाहर्ता आपूर्ति संदीप कुमार दोराईबुरू, अपर नगर आयुक्त संदीप कुमार, निदेशक जिला ग्रामीण विकास अभिकरण संजय भगत, अनुमंडल पदाधिकारी राज महेश्वरम, जिला पंचायती राज पदाधिकारी चन्द्रजीत सिंह सहित अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे.

Web Title : HYDROPOWER CAMPAIGN: AIMS AT TERRIFIING EVERY STRETCH OF LAND

Post Tags: