आइआइटी के आविष्कार-2021 में प्रतिभाओं को अपनी चमक बिखेरने का अवसर

धनबाद: न्यू इंडिया विजन के तहत नरेश वशिष्ठ सेंटर फॉर टिंकरिंग एंड इनोवेशन, आइआइटी(आइएसएम) धनबाद के मेक-इन-इंडिया अभियान के आत्मनिर्भर बनने के लिए नवाचार और उद्यमिता के बीज को आत्मसात करने के लिए स्कूल इनोवेशन चैलेंज-एसआइसी-2021 ´अविष्कार´ पहल शुरू की गई है.  

यह झारखंड राज्य के स्कूली छात्रों के लिए आयोजित एक अंतर-विद्यालयी नवाचार चुनौती है, जिसका उद्देश्य अपने नवोदित स्तर पर प्रतिभाशाली दिमागों का पोषण करना है. यह प्रतियोगिता छात्र-छात्राओं में विज्ञान के प्रति जागरुकता और नई-नई इनोवेशन के प्रोत्साहन के लिए आयोजित की जा रही है.

पांच थीम पर इस प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है. इसमें एनर्जी, वॉटर एंड सैनिटेशन, एन्वायरमेंट, एजुकेशन और हेल्थ एंड वेल-बींइग थीम शामिल है.

आठवीं से 12वीं के छात्र-छात्रा जेएच-एसआईसी वेब पोर्टल पर स्कूल के यू डाइस कोड के साथ रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे. एक ही स्कूल दो इनोवेशन अपलोड कर सकता है. स्कूलों की ओर से दिए जाने वाले इनोवेशन का मूल्यांकन विशेषज्ञ करेंगे और पहले फेज के परिणाम की घोषणा की जाएगी.  

फेस-2 के लिए अधिकतम 10 इनोवेशन का चयन किया जाएगा. इसके अंतर्गत जिला चैंपियन को चयनित करते हुए फेज-3 के लिए मनोनीत किया जाएगा. फेज-4 में भाग लेने वाले स्कूलों के आधार पर स्टेट चैंपियन की घोषणा की जाएगी. झारखंड सरकार के स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग द्वारा JH-SIC में भागीदारी के लिए सभी स्कूलों को निमंत्रण दिया गया है.  

प्रस्तुत विचारों को विशेषज्ञ पैनल द्वारा शिक्षा और उद्योग से जांचा जाएगा.   प्रत्येक जिले से शीर्ष 10 विचारों को आगे के राउंड के लिए सीले किया जाएगा.   चयनित टीमों को आगे के दौर में पदोन्नत किया जाएगा जहां वे अपने विचारों को ´कैसे वे इसे लागू करने की योजना बनाते हैं और कैसे यह बड़े अच्छे के लिए यथास्थिति को बदलने जा रहा है´ के रोडमैप के साथ प्रस्तुत करेंगे.

जिला चैंपियन का चयन अवधारणा के प्रमाण (PoC) के साथ-साथ उनके विचारों की प्रस्तुति के आधार पर किया जाएगा, जो टीम जिला चैंपियन नहीं बना पाएंगी उन्हें इस आयोजन के चरण -3 में प्रवेश करने का एक और अवसर मिल सकता है.   WILD कार्ड प्रविष्टि हालांकि, वाइल्ड कार्ड प्रविष्टि को कठोर चयन प्रक्रिया से गुजरना होगा जो कि उनके विचारों की नवीनता, नवीनता और रचनात्मकता पर आधारित होगा.   

जिला चैंपियन और वाइल्ड कार्ड एंट्री सहित अधिकतम 40 टीमें इवेंट के फेज -3 में प्रवेश करेंगी.   चरण -3 के लिए शॉर्टलिस्ट की गई 40 टीमों को उनके प्रोटोटाइप विकसित करने के लिए NVCTI द्वारा सलाह दी जाएगी. इनमें से शीर्ष 10 टीमों को राज्य चैम्पियनशिप के लिए प्रतियोगिता के अंतिम चरण के लिए चुना जाएगा. शीर्ष 10 टीमों को NVCTI, IIT (ISM) धनबाद में इंटर्नशिप का अवसर प्रदान किया जाएगा और शीर्ष 5 विचारों का व्यवसायीकरण किया जाएगा.   

चैंपियन को मिलेगा एक लाख रूपये नकद पुरस्कार

स्टेट चैंपियन टीम को 100000 रूपये, रनर अप टीम को 75000 रूपये, दूसरी रनर अप टीम को 50000 रूपये तथा सांत्वना पुरस्कार 25000 रूपये नकद मिलेंगे. नकद पुरस्कारों के साथ, शीर्ष 5 टीमों को मोमेंटो और मेरिट का प्रमाण पत्र मिलेगा.

शीर्ष 5 विचारों को एनवीटीटीआई की मेंटरशिप के तहत अपने विचार को अंतिम उत्पाद में बदलने के लिए पूर्ण-धन का समर्थन मिलेगा. जिला चैंपियन टीम वाले प्रत्येक स्कूल, स्टेट चैंपियन वाले स्कूल और रनर अप टीमों वाले स्कूलों को एक शील्ड और एक प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा. पंजीकरण की अंतिम तिथि 28 फरवरी 2021 है.

Web Title : IITS INVENTION 2021 GIVES TALENT AN OPPORTUNITY TO SHINE

Post Tags: