डी- नोबली कोड़ाडीह में 8 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म को लेकर कतरास में उबाल, अभिभावकों एवं ग्रामीणों ने विद्यालय को घेरा 

रिपोर्ट - बिनोद रजक 

कतरास. कतरास बाजार के फुलवार में स्थित है डी नोबिली स्कूल में 8 वर्षीय बच्ची के साथ विद्यालयों के 2 शिक्षकों के द्वारा दुष्कर्म के मामले को लेकर सोमवार को कतरास की जनता एवं अभिभावकों ने विद्यालय का घेराव किया एवं जमकर विद्यालय प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी की.

बताते चलें कि शुक्रवार को इस मामले को लेकर कतरास थाने में विद्यालय के 2 शिक्षक एवं एक नर्स के ऊपर मामला दर्ज कराया गया था. लेकिन पुलिस ने रविवार को विद्यालय के नर्स को पूछताछ के लिए थाने लेकर आई एवं बच्ची के साथ दुष्कर्म करने वाले जो दो मुख्य आरोपी थे उन्हें अभी तक नहीं पकड़ पाई है. जिसको लेकर अभिभावकों में भारी आक्रोश देखा गया.

मामले को लेकर रविवार को अभिभावक संघ ने कतरास सूर्य मंदिर के पास संध्या 6  बजे एक बैठक किया था एवं निर्णय लिया गया कि सोमवार को विद्यालय का घेराव किया जाएगा. हालांकि अभिभावक सुबह 7 बजे से विद्यालय पहुंचने लगे थे अभिभावकों की बैठक की सूचना पर विद्यालय प्रबंधन के द्वारा विद्यालय को 2 दिन के लिए बंद कर दिया गया, फिर भी सैकड़ों की संख्या में अभिभावक विद्यालय पहुंचकर आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे थे.

सुबह 7:00 बजे से लेकर 10:00 बजे तक अभिभावक स्कूल के बाहर गेट के पास खड़े रहे हैं विद्यालय प्रबंधन के द्वारा विद्यालय का मुख्य गेट नहीं खोला गया जिसके बाद महिला अभिभावक आक्रोशित हो गई. एवं गेट के ऊपर चढ़कर गेट को खोलने का प्रयास करने लगी एवं नारेबाजी करने लगी.
विद्यालय के दूसरे गेट पर पुरुष अभिभावकों ने जमावड़ा लगा रखा था जिसके बाद पुरुष अभिभावक भी दूसरे गेट पर चढ गए एवं विद्यालय के अंदर प्रवेश करने का प्रयास किया. मौजूद पुलिस प्रशासन भी  स्थिति को नियंत्रण करने में सक्षम नहीं थी. जिसके बाद विद्यालय के गेट में खोल दिया गया.

बताते चलें कि वर्ष 2017 में भी विद्यालय में इस प्रकार की घटना घट चुकी थी जिसे विद्यालय प्रबंधन के द्वारा दबा दिया गया. जब अभिभावक एवं ग्रामीण विद्यालय परिसर के अंदर पहुंचे काफी देर नारेबाजी और हो हंगामा करने के बाद विद्यालय के प्राचार्य तनुश्री बनर्जी घड़ियाली आंसू बहाते हुए बाहर निकली. अभिभावक जिद पर अड़े हुए थे कि वार्ता जो भी होगा वह खुले मैदान में होगा बन्द कमरे मे नहीं होगा.
विद्यालय प्रबंधन के द्वारा वार्ता के लिए सिर्फ महिला अभिभावकों को अंदर बुलाया गया. बाघमारा एसडीपीओ मनोज कुमार विद्यालय की प्राचार्य तनुश्री बनर्जी एवं महिला अभिभावकों के बीच लिखित समझौता हुआ. जिसमें बच्चियों को पूर्ण सुरक्षा देने की बात प्राचार्य के द्वारा लिखित रूप से महिलाओं अभिभावकों को दिया गया.

वार्ता समाप्त होने के बाद बाघमारा एसडीपीओ ने प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि मामले में गंभीरता पूर्वक जांच पड़ताल की जा रही है किसी भी आरोपी को बख्शा नहीं जाएगा. जांच पड़ताल में विद्यालय का सहयोग मिल रहा है.
विरोध प्रकट करने वालों में मुख्य रूप से भारतीय जनता किसान मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष दीप नारायण सिंह भारतीय जनता पार्टी कतरास मंडल महामंत्री सुर्य देव मिश्रा, सोनू शर्मा 20 सूत्री उपाध्यक्ष गुरमीत सिंह, डॉक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह, काजल देव सिंह, संतोष कुमार भारती, राजेश कुमार प्रमाणिक, अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के सूरज कुमार सिंह, विजय नंदन, समीर जायसवाल, हुमेन हेल्पलाइन के नीतीश जायसवाल अभिभावक संघ के नीतीश ठक्कर एवं सैकड़ों महिला तथा पुरुष अभिभावक मौजूद थे.
Web Title : IN QATARIS OVER RAPE OF 8 YEAR OLD GIRL IN D NOBLE KODADIH, PARENTS AND VILLAGERS CORDON OFF SCHOOL

Post Tags: