क्या छींकने, खांसने से भी फैल रहा है वायरस? जानें खुद को इससे बचाने के असरदार तरीके

सबसे खतरनाक वायरस में से एक Coronavirus (COVID-19) अब दुनिया भर में पहुंच चुका है. दुनिया के 70 से ज्यादा देशों में कोरोना के मरीज सामने आ रहे हैं और अभी तक 94000 से ज्यादा लोग इसकी चपेट में आ चुके हैं. इसमें से 80000 तो सिर्फ चीन में है और इससे 3000 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. ये वायरस आंखों से तो नहीं दिखता, लेकिन इसे फैलने में कुछ सेकंड का समय ही लगता है. SARS वायरस की श्रेणी में इसे रखा गया है और अभी भी इसे लेकर रिसर्च चल रही है कि आखिर ये वायरस कैसे इतनी जल्दी फैल रहा है और इसे रोका कैसे जाए. मौजूदा जानकारी के मुताबिक कोरोना वायरस के अब तक 29 मामले भारत में सामने आ चुके हैं.

ये वायरस पस, थूक, छींक आदि के जरिए सांस लेते, छींकते, खांसते, बोलते या हंसते समय भी निकलते हैं. अगर वो किसी और इंसान से संपर्क में नहीं आते तो वो आम तौर पर जमीन पर गिर जाते हैं.   

किसी बीमार इंसान से कितनी दूरी बनाकर रखनी चाहिए? 

WHO के एक प्रवक्ता Christain Lindmeier के मुताबिक किसी बीमार इंसान से कम से कम तीन फिट की दूरी बनाए रखनी चाहिए. इसके अलावा, कुछ रिपोर्ट्स में इस दूरी को 6 फिट भी बताया गया है.   

कितने समय तक कोरोना वायरस के मरीज़ के साथ रह सकते हैं आप? 

ये अभी भी रिसर्च का हिस्सा है. जितना ज्यादा समय और जितनी ज्यादा बार आप जाएंगे उतना ज्यादा रिस्क बढ़ेगा.  

कैसे पता करें कि कोई इंसान बीमार है?

कई बार आपको पता भी नहीं चलेगा, लेकिन आम लक्षण हैं सर्दी, खांसी, फ्लू. हालांकि, ऐसे लोग जिन्हें कोई लक्ष्ण समझ नहीं आ रहा था उनकी वजह से भी दूसरे लोगों को ये संक्रमण हुआ है. पर अधिकतर लोग इस संक्रमण का शिकार तब हुए हैं जब वो किसी बीमार इंसान के साथ थे.   

क्या ये वायरस टच स्क्रीन फोन, बस पोल या किसी और ऐसी चीज़ के ऊपर जिंदा रह सकता है? 

इसका जवाब है हां, हॉन्ग कॉन्ग के बौद्ध मंदिर में जाने वाले लोग बीमार पड़ गए. वहां से सैम्पल कलेक्ट किए गए और रिसर्च में सामने आया कि कोरोना वायरस ग्लास, मेटल, प्लास्टिक आदि पर दो घंटे से लेकर 9 दिनों तक जिंदा रह सकता है.   

बचने का सबसे आसान तरीका? 

इससे बचने का सबसे आसान तरीका है अपने हाथ हमेशा साबुन या सैनेटाइजर से धोते रहें. आप अपने चेहरे को छूने से पहले ये जरूर करें. वायरस ड्रॉपलेट्स स्किन से किसी भी तरह से अंदर न जाने पाए बस ये ध्यान रखना जरूरी है. इसके अलावा, चीन से प्रोडक्ट्स मंगवाना बंद कर दें. आपको नहीं पता कि किसी ने उस प्रोडक्ट पर छींक या खांस दिया हो और वो कोरियर के जरिए हमारे देश में एंट्री ले ले.   मास्क पहनकर ही बाहर निकलें.  

कौन सा साबुन इस्तेमाल करना चाहिए? 

मेडिकेटेड साबुन इस्तेमाल करें. बेहतर होगा हैंड वॉश लें और सैनेटाइजर अपने पास हमेशा रखें.  

जिन लोगों को ये वायरस है क्या उनके साथ खाना खाना सही है?

अगर कोई इंसान बीमार है तो आपको उससे दूरी बनाकर रखनी चाहिए. ऐसे मरीज के साथ खाना खाना यकीनन बहुत खतरनाक साबित हो सकता है. हां, खाना गर्म करने और पूरी तरह से पकाने से वायरस जरूर खत्म हो सकता है.  

क्या पेट्स को साथ में रखा जा सकता है? 

अगर आपका पेट बीमारी के लक्ष्ण दिखा रहा है तो उसकी जांच करवाएं. अगर आपमें बीमारी के लक्ष्ण हैं तो जांच करवाने के बाद आप घर के अंदर आईसोलेश में या फिर किसी सरकारी सेवा में जा सकते हैं. पेट (pet) को किसी इंसान से खतरा हो ये अभी तक जांच में सामने नहीं आया है.   

क्या करें सबसे पहले?

कहीं भी पब्लिक प्लेस से आते-जाते आप हाथ जरूर धोएं और मास्क लगाकर घूमने की कोशिश करें.  


Web Title : IS SNEEZING, COUGHING, ALSO SPREADING VIRUSES? LEARN EFFECTIVE WAYS TO PROTECT YOURSELF FROM IT

Post Tags: