UIDAI ने नियमों को किया सख्त, अब इतनी बार ही आधार कार्ड में बदलाव कर पाएंगे

नई दिल्ली: भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण  ने आधार कार्ड  की डिटेंल्स जैसे नाम, लिंग, जन्म की तारीख  में बार-बार किए जाने वाले बदलावों को लेकर नियम सख्त कर दिए हैं. लोगों द्वारा बार-बार आधार कार्ड में दी गई जानकारी में बदलाव करने से पहचान करते समय कोई परेशानी ना हो, इसी को देखते हुए UIDAI ने अपनी नई गाइडलाइंस जारी की हैं.

UIDAI की गाइडलाइंस के मुताबिक अब आप आधार कार्ड में अपने नाम में बदलाब केवल 2 बार ही कर पाएंगे. जिसके लिए आपको आधार कार्ड बनाने वाले सेंटर पर जाना होगा और अपने नाम में बदलाव के वैलिड प्रूफ भी देना होगा.

आधार में जन्म के साल में बदलाव से जुड़े नियमों को और सख्त कर दिया गया है. UIDAI के नए नियमों के बाद अब आप अपनी जन्म की तारीख में मात्र 1 बार ही बदलाव कर पाएंगे. इसके अलावा  पहले से आधार कार्ड में दर्ज जन्म के साल से अधिकतम 3 साल आगे या पीछे तक बदलाव हो सकेगा. हां अगर आप जन्म के साल में 3 साल की लिमिट से ज्यादा का बदलाव करवाना चाहते हैं तो आपको अपना जन्म प्रमाण पत्र डाक्यूमेंट के तौर पर जरूरी देना होगा.

UIDAI के नए नियमों के अनुसार लिंग में बार-बार नहीं कर पाएंगे. आधार में अब आप लिंग में केवल 1 बार ही बदलाव कर सकते हैं. इसके बाद भी अगर आपको एक से ज्यादा बार आधार कार्ड में अपने लिंग में बदलाव करवाना है तो आपको UIDAI के क्षेत्रीय ऑफिस में जाना होगा.

हां अगर आप अपने नाम, लिंग और जन्म की तारीख में UIDAI के नए नियमों में दी गई लिमिट से ज्यादा बार बदलाव करना चाहते हैं तो आपको नीचे दिए गए ये स्टेप्स फॉलो करने होंगे

1. सबसे पहले आपको आधार कार्ड के सेंटर पर होगा, जहां आधार कार्ड बनाए जाते हैं.


2. अपने आधार कार्ड सेंटर पर अपने आधार कार्ड में नाम, लिंग और जन्म की तारीख में आधार के नए नियमों की लिमिट से ज्यादा हुए बदलाव की जानकारी UIDAI के क्षेत्रीय  ऑफिस में E-mail या पोस्ट के जरिए देनी होगी. इस जानकारी में आपको बताना होगा कि आप ये बदलाव क्यों करना चाहते हैं. इसके साथ ही आपको एक URN स्लिप की कॉपी, आधार कार्ड की डिटेल और होने वाले बदलावों से जुड़ा कोई पुख्ता डाक्यूमेंट देना होगा. आप UIDAI की वेबसाइट help@uidai. gov. in पर मेल कर सकते हैं. आप याद रखें जब तक आपकों किसी जांच के लिए UIDAI के क्षेत्रीय  ऑफिस में बुलाया ना जाए तब तक वहां जाने की जरूरत नहीं है.

3. इसके बाद आपके द्वारा दी गई जानकारी की जांच UIDAI का क्षेत्रीय ऑफिस करेगा कि आधार में हुए बदलाव कहीं फ्रॉड तो नहीं हैं. इसके लिए अगर जरूरत हुई तो आपके घर पर भी जांच के लिए ऑफिस की एक टीम आ सकती है.

4. जांच के बाद अगर आपके द्वारा दी गई जानकरी सही पाई जाती है तो आपके आधार कार्ड में बदलावों मान्यता मिल जाएगी.

Web Title : UIDAI TIGHTENS RULES, WILL NOW BE ABLE TO CHANGE AADHAAR CARD SO OFTEN

Post Tags: