हड़ताल राजनीतिक से प्रेरित, कोयला श्रमिको ने किया विफल : भामसंघ

धनबाद :  बीएमएस को छोड़ केंद्रीय श्रमिक संगठनों द्वारा 8 और 9 को बुलाई गई हड़ताल को बीएमएस ने राजनितिक से प्रेरित बताया. धनबाद कोलियरी कर्मचारी संघ (बीएमएस) के महामंत्री केपी गुप्ता ने कहा कि कोयला श्रमिको ने इस हड़ताल को विफल कर दिया है. चाहे जिस भी श्रमिक संगठन के मजदूर हो उन सभी ने अपने को हड़ताल से अलग रखा.

केपी गुप्ता ने बुधवार को कार्यालय में पत्रकार वार्ता को संबोधित कर उक्त बांते कही. कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की ओर से संजीवा रेड्डी अध्यक्ष (आईएनटीयुसी) को लिखे गए पत्र दिखाते हुए उन्होंने बताया कि संजीवा रेड्डी ने पत्र का जवाब देते हुए राहुल गांधी को लिखा की हड़ताल से कांग्रेस को काफी फायदा पहुँचेगा.

बीएमएस जो प्रारम्भ से कह रही थी की हड़ताल पुरी तरह से राजनितिक से प्रेरित है. यह पत्र से स्पष्ट होता है. अभी चुनाव नजदीक है. जब जब चुनाव की घड़ी आती है. राजनितिक से जुड़े श्रमिक संगठन श्रमिको को बेवकूफ बनाकर हड़ताल बुला लेते है. मजदूरो ने हड़ताल को विफल किया इससे स्पष्ट है कि बीसीसीएल के मजदूर सजग हो चुके है.

इस हड़ताल में संयुक्त मोर्चा के द्वारा जो भी मांगे दी गई उसपर बीएमएस सरकार के साथ पूर्व में ही चर्चा कर चुकी है. जिसके तहत सात मांगो पर सहमति भी बन गई है. बीएमएस एक वैचारिक सोंच के साथ चलती है.

बीएमएस जब कभी मजदूरो की मांगों को सरकार के पटल पर रखती है और सरकार कुछ मांगो को छोड़ अधिकांश मांगे मान लेती है तो उस परिस्थिति में बीएमएस भी सरकार से वैचारिकता रखना अपनी जिम्मेवारी समझती है. बीएमएस ने कभी भी मजदूरो के हक अधिकार के साथ समझौता नहीं किया.

17 नवम्बर 2017 को मजदूरो के 13 सूत्री मांग को लेकर वर्तमान सरकार के विरुद्ध दिल्ली में प्रदर्शन कर मजदूरो की आवाज को बुलंद किया. जिसमें तत्काल सरकार ने सात मांगो के क्रियान्वयन की दिशा में पहल की.

बीएमएस के जिला अध्यक्ष ओम कुमार सिंह ने कहा कि 2019 के लोक सभा चुनाव को देखते हुए गैर बीएमएस के द्वारा दो दिन का हड़ताल बुलाया गया. बीएमएस को भी श्रम कानून के सवाल पर आपत्ति है परंतु हड़ताल तब बुलाया जाना चाहिए जब मजदूरो की मांगों पर गम्भीरतापूर्ण विचार हेतु सरकार के पास भी वक्त हो.

ऐसे समय में जब चुनाव नजदीक है. यह हड़ताल केवल वोट बैंक बनाने के लिए था. श्रमिको के बीच भ्र्म की स्थिति फैलाई गई. प्रेस वार्ता में सूर्यनाथ सिंह, रामरतन सिंह, ज्ञान राठौर, रामचंद्र पासवान मौजूद थे.

Web Title : STRIKE FUELLED BY POLITICAL, COAL WORKERS SPOILERS MADE: BHAMASAGH

Post Tags: