निगम के बढ़े यूजर चार्ज के विरोध में नगर आयुक्त को चेम्बर अध्यक्ष ने सौंपा ज्ञापन

धनबाद. कोरोना संक्रमण काल से गुजर रहे धनबाद के व्यवसायियों को धनबाद नगर निगम के द्वारा यूजर चार्ज के रूप में ₹ 1000 प्रति दुकान का जो तुगलकी फरमान जारी किया है वह सरासर गलत है. धनबाद शहर के सभी दुकानों को एक ही तराजू में तौल दिया गया है.  

आज इसी सिलसिले में फेडरेशन ऑफ धनबाद जिला चैंबर आॅफ काॅमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष चेतन गोयनका के नेतृत्व में एक प्नतिनिधिमंडल ने धनबाद के नगर आयुक्त सह प्रशासक धनबाद नगर निगम  चंद्रमोहन कश्यप से मुलाकात कर उन्हें धनबाद के सभी दुकानों के लिए यूजर चार्ज एक समान लेने के सरकार के फैसले को गलत कहा एवं ज्ञापन देकर उसे तत्काल वापस लेने की अपील की.  

जब व्यवसायी होल्डिंग एवं ट्रेड लाइसेंस के रूप में नगर निगम को टैक्स देते हैं तो सरकार के द्वारा यूजर चार्ज लेने का कोई औचित्य नहीं है. नगर आयुक्त चंद्रमोहन कश्यप ने प्रतिनिधिमंडल को कहा कि यह आदेश राज्य सरकार द्वारा जारी किया गया है एवं पूरे झारखंड में लागू किया गया है. इसमें किसी भी तरह का बदलाव झारखंड मंत्रिमंडल के द्वारा ही हो सकता है. उन्होंने चैंबर के द्वारा रखी गई बातों को नगर विकास विभाग को प्रेषित करने की बात कही है.

प्रतिनिधिमंडल में फेडरेशन ऑफ धनबाद जिला चैंबर आॅफ काॅमर्स एंड इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष चेतन गोयनका, महासचिव अजय नारायण लाल, कोषाध्यक्ष श्याम नारायण गुप्ता, संरक्षक राजेश गुप्ता, सरायढेला चैंबर के अध्यक्ष  शिवाशीष पाण्डेय, पार्क मार्केट चैंबर के सचिव विनोद अग्रवाल, कोषाध्यक्ष मनीष रंजन, बरटांड चैंबर के अध्यक्ष सचिन गुप्ता,  नितेश बजानिया उपस्थित थे.

जिला चैंबर के अध्यक्ष  चेतन गोयनका ने कहा कि जिला चैंबर की आवश्यक बैठक कर आने वाले दिनों में विरोध करने की रूपरेखा तैयार की जायेगी एवं झारखंड सरकार के व्यापारी विरोधी नीति के खिलाफ हर स्तर पर आवाज उठायी जायेगी

Web Title : CHAMBER CHAIRMAN SUBMITS MEMORANDUM TO MUNICIPAL COMMISSIONER AGAINST INCREASED USER CHARGE OF CORPORATION

Post Tags: