जीटा ने एसबीआइ के चेयरमैन को लिखा पत्र, कहा-बड़े कार्यालय का छोटे कार्यालय में विलय कैसे, यह अन्याय है

धनबादः धनबाद में स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया का जोनल ऑफिस आगामी एक जून से यहां नहीं रहेगा, अब बिल्कुल पानी की तरह साफ हो चुका है. पिछले कुछ दिनों से, इसके खिलाफ कुछ कोनों से विरोध का स्वर उठा, लेकिन न ये नक्कारखाने में तूती साबित हुआ. सांसद पशुपतिनाथ सिंह ने दो-दो पत्र लिखे. विधायक राज सिन्हा ने यह ऐलान किया कि यदि जोनल ऑफिस धनबाद से देवघर चला जाएगा, तो जिले के हर एसबीआइ ब्रांच में ताला मार दूंगा. चैम्बर के पदाधिकारी भी जोनल ऑफिस के पदाधिकारी से मिल अपना रोष दर्ज कराया. इन प्रयासों से ऐसा लगा कि जोनल ऑफिस के यहां से हटने पर रोक लग सकती है. लेकिन, 20 मई को डिप्टी जेनरल मैनेजर द्वारा धनबाद के टेलीफोन एक्सचेंज ऑफिस को जोनल ऑफिस के दूरभाषों एवं ब्राॅडबैंड कनेक्शन को बंद करने का पत्र दिया. इस पत्र के सार्वजनिक होते ही, जोनल ऑफिस के यहां ठहरने की बातें दिवा स्वप्न हो गईं हैं.  

जीटा ने शुरू की कोशिश 

झारखंड इंडस्ट्रीज एंड ट्रेड एसोसियेशन के महासचिव राजीव शर्मा ने स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के चेयरमैन को पत्र लिखकर धनबाद स्थित जोनल ऑफिस के देवघर स्थित जोनल ऑफिस में विलय के निर्णय पर पुनर्विचार करने का आग्रह किया है. उन्होंने कहा है कि वैश्विक आपदा कोरोना और लाॅकडाउन में इस तरह का निर्णय हैरानी-भरा है. लगातार लोगों द्वारा आग्रहपत्र देने के बाद भी इस निर्णय पर कोई विचार नहीं किया गया है.  

बड़े ऑफिस का विलय छोटे में कैसे 

राजीव शर्मा ने पत्र में सवाल उठाते हुए लिखा है कि अबतक छोटे ऑफिस का विलय बड़े ऑफिस में होता रहा है. लेकिन, एसबीआइ के धनबाद जोनल ऑफिस के मामले में यह बिल्कुल विपरीत है. बड़े कार्यालय का विलय छोटे में किया जा रहा है.  

धनबाद देश की कोयला राजधानी और झारखंड की आर्थिक राजधानी

पत्र में ऐसा कहा गया है कि धनबाद देश की कोयला राजधानी है और राज्य की आर्थिक राजधानी है. यहां का बैंकिंग कारोबार बहुत बड़ा है. एसबीआइ धनबाद का सबसे बड़ा बैंक है और सबसे अधिक शाखा भी इसी बैंक में हैं. ऐसे में यह निर्णय उचित नहीं है.

#SBIZODHN को मिल रहे हिट

जीटा के इस पत्र को एसबीआइ चेयरमैन को ई-मेल किया गया है. साथ ही ट्वीटर पर भी पोस्ट किया गया है. इसे भारी संख्या में लोग रिट्वीट कर रहे हैं. #SBIZODHN हिट हो रहा है. इस ट्वीट को पीएन सिंह, रघुवर दास, जयंत सिन्हा और सीपी चौधरी को टैग किया गया है.   

गिरिडीह सांसद ने दिया समुचित कार्रवाई का आश्वासन

राजीव शर्मा के ट्वीट पर गिरिडीह के सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी ने समुचित आश्वासन दिया. कहा है कि सम्बंधित नियामक से इस विषय पर बात करेंगे.

Web Title : JITA WRITES TO SBI CHAIRMAN, SAYS HOW BIG OFFICE MERGES INTO SMALL OFFICE, IT IS INJUSTICE