सांसद पशुपति नाथ सिंह के संसदीय कार्यकाल के 39 वर्ष पूरे

धनबाद : सांसद पशुपतिनाथ सिंह के संसदीय कार्यकाल के उनचालीस वर्ष पूरे होने पर भारतीय जनता पार्टी धनबाद जिला की ओर से बुधवार को जोड़ाफाटक रोड स्थित इंडस्ट्री एंड कॉमर्स के सभागार में अभिनंदन समारोह का आयोजन किया गया.

कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह ने किया. इस अवसर पर जिले के सभी प्रखंडों नगरों और पंचायतों से आए कार्यकर्ताओं ने सांसद को गुलदस्ता और शॉल भेंट कर उनके इस सफलता के लिए शुभकामना दी.

सांसद ने अपने संबोधन में कहा कि कार्यकर्ता उनकी पूंजी है. विनम्रता से बड़ी कोई ताकत नहीं होती है. कार्यकर्ता और अपनी विनम्रता के बलबूते ही आज वार्ड पार्षद से लेकर सांसद तक का सफर  सफलता पूर्वक तय किया हैं.

आज तक ना तो पार्टी में किसी पद के लिए और ना ही टिकट के लिए किसी के पास गए. अपना मनोबल हमेशा से ऊंचा रखा. एक एक सीढ़ी चढ़ता गया, सफलता मिली और जनता के बीच काम करने का अवसर मिला है.

उन्होंने कहा कि मेरा कभी भी यह स्वभाव नहीं रहा, किसी के दरवाजे पर संगठन में किसी भी पद के लिए जाऊं. सांसद बनने से पहले छात्र संघ का अध्यक्ष, वार्ड कमिश्नर, विधायक, मंत्री बने.

कई लोग उकसाते भी रहते है. केंद्र में मंत्री के लिए दावेदारी क्यों नहीं करते. ऐसी कभी भी सोच नहीं रखे. केवल कर्म करना है फल कर्म के आधार पर ही मिलता है.

महापौर चंद्रशेखर अग्रवाल ने कहा कि सौम्य छवि और धैर्य को बरकरार रखने का गुण अगर किसी से सीखना है तो वह पशुपतिनाथ से सीखें. इनके राजनीतिक गुणों को अपनाकर ही आगे बढ़ा जा सकता है.

इनके निर्णय में अनुभव दिखता है. विधायक राज सिन्हा ने कहा कि सांसद पशुपतिनाथ जी कार्यकर्ताओं के प्रेरणा स्त्रोत हैं.   राजनीति में इन्होंने ने ही उंगली पकड़कर चलना सिखाया.

आज विधायक बने हैं तो इसके लिए उनकी भूमिका अहम है. उन्होंने कार्यकर्ताओं को सम्मान देने का काम किया है. जियाड़ा के स्वतंत्र निदेशक सत्येन्द्र कुमार ने कहा कि सांसद का उनचालीस साल बेमिसाल है.

सत्तर के दशक से उन्होंने राजनीतिक यात्रा प्रारंभ की. जिनका सार्वजनिक जीवन में मूल्यांकन किया जा रहा है. उनके व्यवहार में एक ऐसी छाप है कि जो हर किसी को भाता है.

भाजपा जिला अध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह ने अपने साथ सांसद के सफर को यादगार रूप में रखा. उन्होंने कहा कि जब वे भाजपा के जिलाध्यक्ष थे. तभी से उनके साथ हैं.

वे हमेशा संवेदनशील रहे हैं. कभी विवादों में नहीं रहे.   यही वजह है कि सभी उन्हें दिल से भाई जी कह कर पुकारते हैं.

इस अवसर पर सांसद प्रतिनिधि नितिन भट्ट मिल्टन पार्थसारथी संजय झा राजकुमार अग्रवाल धरणीधर मंडल प्रोफेसर सरिता श्रीवास्तव के अलावा अन्य वक्ताओं ने अपने विचार रखें.

Web Title : MP PASHUPATI NATH SINGHS PARLIAMENTARY TENURE COMPLETES 39 YEARS

Post Tags: