धोखरा में भोक्ता पर्व की धूम, शरीर मे कील चुभोकर किया अपने देव महादेव की आराधना

धनबाद. भोक्ता पर्व (चड़क पूजा) पर मंगलवार को महतो, खटीक, रवानी, आदिवासी समेत अन्य समाज के भोक्ता पीठ, छाती और जीभ में लोहे की कील चुभोकर अपने आराध्य भगवान शिव को खुश करते नजर आए. धोखरा पंचायत में यह आयोजन तीन दिनों से चल रहा था. आज सभी मे अपने शरीर के अंगों में कील चुभोकर कई फीट ऊंची लकड़ी के खंभे से झूल कर भगवान शिव को नमन किया.  

50 शिव भक्तों ने अपने शरीर पर कील चुभोकर खूंटे में झूलकर ढोल और नगाड़े की थाप पर झूमते दिखे. कोरोना महामारी को ध्यान रखते हुए सरकारी गाइडलाइन का भी पालन किया गया. मास्क लगाकर अभी ने सामाजिक दूरी बनाए रखा. बताया जाता है कि 

यह मंदिर अग्रेजो के समय से बना है. कहा जाता है कि यह शिव लिंग आपरूपी प्रकट हुआ है. आज तक कोई भी जान नही पाया है कि यह मंदीर किसने स्थपना  किया.

Web Title : BHOKTA PARV CELEBRATED IN DHOKRA, NAIL PRICKED IN BODY AND WORSHIPPED HIS DEV MAHADEV

Post Tags: