हट्टा के डुंडासिवनी में कुंये में जहरीली गैस से पिता और दो पुत्री की मौत,प्रत्येक मृतकों को सरकार दे 25 लाख का मुआवजा-पूर्व सांसद मुंजारे

बालाघाट. जिले के हट्टा थाना अंतर्गत डुंडासिवनी में आज 9 जुलाई की दोपहर कुंये में जहरीली गैस रिसाव से पिता और दो पुत्री की मौत हो गई. डुंडासिवनी स्थित महेन्द्र गौतम के खेत में विगत दो दशकों से गांव का 52 वर्षीय गणेश राऊत अधियाबटाई करता है, जिसमें खेती के कार्य से गणेश राऊत, पत्नि और उनकी दोनो बिटिया 22 वर्षीय बबिता और 18 वर्षीय सविता खेत गये थे. दोपहर लगभग 12 बजे बिजली नहीं होने से स्टील के कढ़ी वाले डब्बे में रस्सी बांधकर गणेश राऊत कुंये से पानी निकाल रहा था, इस दौरान ही डब्बा कुंये में गिर गया. जिसे निकालने गणेश राऊत कुंये में उतरा किन्तु वह बाहर नहीं जिसको बचाने कुंये में उतरी बड़ी बेटी बबिता और छोटी बेटी सविता भी बाहर वापस नहीं आ सकी और कुंये की जहरीली गैस से उनकी मौत हो गई. कुंये में मृतक पिता और दो पुत्रियों के शव निकालने में चार घंटे लग गये और लगभग 4 बजे सभी मृतकों के शव को कुंये से बाहर निकाला जा सका.

घटना की जानकारी के बाद पुलिस अमला, जनप्रतिनिधि पूर्व सांसद कंकर मुंजारे, जिला पंचायत सदस्य डाली कावरे, दुर्गेश बिसेन, आदिवासी गोवारी समाज जिलाध्यक्ष महेश सहारे मौजूद थे.

पुलिस की मौजूदगी मंे कुंये से ग्रामीणों ने रस्सी और टायर की मदद से निकाले शव

कुंये में जहरीली गैस से पिता और दो पुत्री की मौत की जानकारी मिलने के बाद लांजी एसडीओपी अखिल पटेल, किरनापुर थाना प्रभारी रितेश पांडे और किरनापुर एवं हट्टा पुलिस का बल घटनास्थल पहुंचा. जहां पुलिस की मौजूदगी में ग्रामीणों ने रस्सी और टायर की मदद से पिता और पुत्रियों का शव बाहर निकाला. जिसके बाद शव को एक निजी मेटाडोर की मदद से पीएम के लिए जिला चिकित्सालय भिजवाया गया.  

तीन मौतो ने गांव को कर दिया गया गमगीन

गोवारी समाज के पिता गणेश राऊत और उसकी दो बेटी बबिता और सविता की मौत ने गांव को गमगीन कर दिया. घटनास्थल पर पहुंचे ग्रामीणों की आंखे नम थी. परिवार में पत्नी और बेटे के आंसु थमने का नाम नहीं ले रहे थे तो गांव के ग्रामीण भी इस घटना से स्तब्ध और गमजदा थे.

शव लाने में दिखाई दी असंवेदनशीलता

सड़क से लगभग एक किमी दूर अंदर खेत के कुंये में मृत हुए पिता और पुत्रियों के शव को सड़क तक लाने में जिस प्रकार का परिचय पुलिस ने दिया है, उसको लेकर ग्रामीणों के साथ ही घटना की जानकारी मिलने के बाद पहुंचे जनप्रतिनिधियों ने नाराजगी और आक्रोश जाहिर किया. पूर्व सांसद कंकर मुंजारे, आदिवासी गोवारी समाज जिलाध्यक्ष महेश सहारे, क्षेत्रीय जिला पंचायत सदस्य डाली कावरे ने इसे असंवेदनशील बताते हुए कहा कि दोपहर में पुलिस को घटना की जानकारी मिल गई थी, जिसके बाद भी पुलिस ने घटनास्थल से अस्पताल तक शवों को पहुंचाने में कोई व्यवस्था नहीं की. घटनास्थल से शवों को जानवरों की तरह बांस के सहारे कपड़ो में बांधकर लाया गया. जबकि पुलिस को इसके लिए एम्बुलेंस और स्ट्रेचर की व्यवस्था करनी थी.  

परिवार के प्रत्येक सदस्य को दे 25 हजार रूपये मुआवजा-पूर्व सांसद मुंजारे

घटना की जानकारी मिलने के बाद घटनास्थल पहुंचे पूर्व सांसद कंकर मुंजारे ने घटना को अत्यधिक दुःखदायी बताते हुए कहा कि सरकार की नाकामियों के कारण एक गरीब परिवार के तीन सदस्यों को अपनी जान गंवानी पड़ी. बिजली नहीं होने से गरीब गणेश को कुंये से पानी खिंचना पड़ा और इस हादसे में उसकी और दो पुत्रियो की मौत हो गई. यह सरकार की गंभीर लापरवाही का परिणाम है. सरकार गरीब परिवार के प्रत्येक मृत सदस्यों को 25-25 लाख रूपये का मुआवजा दे.  

दुखद हादसा, मृतक परिवार को सरकार दे सहायता-डाली कावरे

क्षेत्रीय जनपद सदस्य डाली कावरे ने घटना को दुःखद हादसा बताते हुए कहा कि गरीब परिवार के पालनकर्ता सहित दो बेटियों की मौत से परिवार पर गहरा आघात हुआ है. जिससे परिवार का गुजर-बसर की समस्या खड़ी हो गई है. सरकार मृतक परिवार को सहायता प्रदान करें, ताकि परिवार का गुजर-बसर हो सकें.


इनका कहना है

डंुडासिवनी में कुंये में एक पिता और दो पुत्रियों की मौत होने की जानकारी मिली थी. जिसके बाद पुलिस अमले के साथ वे यहां पहुंचे और त्वरित कार्यवाही करते हुए कुंये से मृतकों के शव को बाहर निकाला गया है. मौत की वास्तविक कारणो का पता पीएम के बाद ही पता चल पायेगा. मामले में मर्ग कायम कर जांच की जा रही है.

अखिल पटेल, एसडीओपी, लांजी 

Web Title : THE DEATH OF THE FATHER AND TWO DAUGHTER FROM POISONOUS GAS IN HATATAS DUDASIVANI, GIVING THE GOVERNMENT TO EACH OF THE DEAD IS A COMPENSATION OF 2.5 LAKH FORMER MP MUJARE